Expand

सुक्खू का ऑपरेशन क्लीन शुरू,अभद्र भाषा पर निष्कासन

सुक्खू का ऑपरेशन क्लीन शुरू,अभद्र भाषा पर निष्कासन

- Advertisement -

यशपाल शर्मा/ शिमला। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू पार्टी के जरनल हाउस के बाद कड़े तेवरों में हैं। उन्होंने संगठन में ऑपरेशन क्लीन शुरू कर दिया है ताकि भविष्य में कोई और विवाद बिना वजह न पनपे। चूंकि जरनल हाउस में सीएम वीरभद्र सिंह ने पार्टी पदाधिकारियों पर उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणियां करने के आरोप लगाए थे। इससे माहौल पूरी तरह गरमा गया था। हालांकि पार्टी अध्यक्ष सुक्खू और प्रदेश प्रभारी अंबिका सोनी ने कार्रवाई की बात कहकर स्थिति संभाल ली।

  • वीरभद्र के आरोपों के बाद सुक्खू ने अपनाए कडे़ तेवर 

sukhu2अब प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह ने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी कार्यकर्ता जो कांग्रेस पार्टी के किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से जुड़ा है चाहे वे फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, यू ट्यूब, जी मेल या कोई और, उस पर पार्टी नेताओं के विरुद्ध कोई भी गलत टिप्पणी या अभद्र भाषा का प्रयोग न करें। सभी नेताओं का सम्मान किया जाए। कुछ लोग अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए ऐसा करते हैं तो उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। यह कानूनी अपराध भी है, अगर किसी पर कोई कानूनी कार्रवाई होती है तो पार्टी उसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेगी। टिप्पणी करने वाले पदाधिकारी और कार्यकर्ता को पार्टी से निष्कासित कर दिया जाएगा।

याद रहे कि वीरभद्र-सुक्खू में छत्तीस का आंकड़ा खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। पार्टी के जरनल हाउस में वीरभद्रsukhu4 सिंह ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कार्यप्रणाली को लेकर जमकर गुबार निकाला था तो प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू ने भी उन्हें जवाब देने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। वीरभद्र सिंह ने सबसे पहले संगठनात्मक जिलों पर सवाल उठाए थे और कहा कि इनके गठन से पहले विचार-विमर्श कर लेना चाहिए था। पहले ही प्रदेश में इतने जिले हैं कि उन्हें चलाना मुश्किल हो रहा है। संगठनात्मक जिले बनने से प्रशासनिक जिलों की मांग भी उठेगी। उन्होंने सचिवों की नियुक्ति पर खूब चुटकियां लीं, यहां तक कहा कि हॉल में बैठे लोग दिल पर हाथ रखकर कहें कि कितने लोग चुनकर आए हैं। सचिव या पदाधिकारी बन गए हैं तो ज्यादा इतराए नहीं। जो लोग हवा में तैरने के बाद गिरते हैं, वह कहीं के नहीं रहते। उन्होंने कहा था कि नम्रता और विनम्रता होनी चाहिए। उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर पदाधिकारियों ने कमेंट किए, उन पर क्या अनुशासनात्मक कार्रवाई हुई। जो उनके खिलाफ षड्यंत्र रचेगा, उसे वह बख्शेंगे नहीं। वे चाहते हैं कि राष्ट्रीय स्तर से लेकर ब्लॉक स्तर तक पदाधिकारियों की नियुक्ति चुनाव से होनी चाहिए। ऐसे में अब सुक्खू ने पार्टी स्तर पर निर्देश जारी किए हैं। अब देखना यह होगा कि इन निर्देशों पर कौन कितना पालन करता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है