Covid-19 Update

1,99,252
मामले (हिमाचल)
1,92,229
मरीज ठीक हुए
3,395
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,469,183
मामले (दुनिया)
×

सुक्खू करे डिमांड-अस्पतालों में कोरोना से रात में हो रही अधिक मौतों की कराई जाए जांच

हाथ पर हाथ धरकर बैठने के बजाए वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर करे सरकार

सुक्खू करे डिमांड-अस्पतालों में कोरोना से रात में हो रही अधिक मौतों की कराई जाए जांच

- Advertisement -

शिमला। कांग्रेस विधायक (Congress MLA) व पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू (Sukhvinder Singh Sukhu) ने कहा कि टीकाकरण में तेजी लाने के लिए सरकार ग्लोबल टेंडर करे। हाथ पर हाथ धरकर बैठने के बजाए प्रदेश सरकार को अन्य राज्यों की तरह कदम उठाने चाहिए। अभी तक 13 राज्य वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर कर चुके हैं। 18 से 44 साल के लोगों को टीकाकरण ना हो पाने के सरकार जिम्मेदार है। प्रदेश सरकार ने वैक्सीन के लिए समय पर केंद्र सरकार को डिमांड ही नहीं भेजी। जिससे पर्याप्त वैक्सीन ही अभी तक नहीं मिल पाई।

यह भी पढ़ें:Sukhu बोले, कोरोना के दौरान MGNREGA मजदूरों को बिना काम के मिले दिहाड़ी

उन्होंने कोविड अस्पतालों (Covid Hospital) में रात के समय अधिक हो रही मरीजों की मौतों (Death) की जांच कराने की मांग की है। सुक्खू ने कहा कि यह सामने आना जरूरी है कि रात में ही कोविड मरीज अधिक क्यों मर रहे। इसके पीछे वजह क्या है। क्या इलाज में लापरवाही बरती जा रही है या फिर सिस्टम में खामियां हैं। जानकारी के अनुसार दिन के मुकाबले रात में ऑक्सीजन (Oxygen) का फ्लो कम रहता है। यह भी जांच का विषय है कि कहीं इससे तो मौतें नहीं हो रहीं। क्योंकि, जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है अगर उन्हें एक समान फ्लो में आपूर्ति नहीं होगी तो उनकी जान जा सकती है। सरकार इसकी भी गहन जांच कराए। उन्होंने कहा कि जिन कोविड मरीजों को एक से दूसरे अस्पताल में रेफर किया जा रहा है। उनके परिजन बेहद परेशान हैं। परिजन को पता ही नहीं होता कि उनका मरीज कहां रेफर किया है।


सुक्खू ने कहा कि उन्हें सभी जिलों से जानकारों के फोन आ रहे हैं। मरीजों के परिजन बता रहे हैं कि उन्हें अस्पताल में भर्ती अपनों का कोई कुशलक्षेम ही नहीं मिल रहा। कोविड अस्पतालों में फोन करने पर कोई सही जानकारी नहीं दे रहा। सुक्खू ने कहा कि सरकार इसके लिए उचित व्यवस्था करे। मरीज जिस भी अस्पताल से जहां भी के लिए रेफर हो, सरकार तुरंत उसकी सूचना परिजन को फोन कर या फिर मोबाइल पर संदेश के जरिये दे। जिससे कि परिजनों को अपने मरीज की स्थिति का पता चल सके। उन्होंने कहा कि दैनिक बुलेटिन (Daily Bulletin) के अनुसार मरीजों की स्थिति का हाल उनके परिजनों को बताने की व्यवस्था सरकार करे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है