Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

सुमित मौत मामले में क्या हुआ खुलासा, जानने के लिए पढ़ें खबर

सुमित मौत मामले में क्या हुआ खुलासा, जानने के लिए पढ़ें खबर

- Advertisement -

ऊना। बहुचर्चित रायपुर सहोड़ा के सुमित मौत मामले की पोस्टमार्टम रिपोर्ट 18 दिन बाद मिली है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सुमित की मौत फंदा लगाने से हुई है, जिसकी मौत करीब दो सप्ताह पहले हो गई थी। शव पर न तो कोई चोट का निशान है और न ही किसी भी प्रकार के जलने के निशान हैं। टांडा मेडिकल कॉलेज से आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बेशक मौत का कारण फंदा बताया गया है, लेकिन इसको लेकर परिजन अंसतुष्ट हैं। परिजनों ने मामले को लेकर सेकेंड ओपिनियन की मांग उठाई है। साथ ही साथ परिजनों ने सुमित की पेंट, पर्स व बाइक की चॉबी की कड़ी को साथ जोड़ जांच करने को कहा है।
डीएसपी हेडक्वार्टर ऊना अशोक वर्मा ने बताया कि सुमित लापता होने से पूर्व 24 सितंबर को सुबह साढ़े 11 बजे से लेकर रात साढ़े 8 बजे तक अपने ननिहाल धुंधला, बंगाणा में था। जहां सुमित ने बताया था कि वह काफी परेशान और उसकी सेहत ठीक नहीं है। जांच के दौरान पता चला है कि सुमित के पिता की मौत के बाद जो राशि मिली थी, वह लुधियाना में पुरानी हॉजरी मशीन खरीद ली थी। लुधियाणा में काम अच्छा न चलने से घाटा हो रहा है। साथ ही पता चला था कि सुमित किसी प्रकार की दवाई भी खाता था। डीएसपी ने बताया कि जांच में यह भी पता चला कि धुंधला से वापस घर निकलने से पहले जाते-जाते सुमित ने कहा था कि आखिरी बार खाना खाया है। इसके बाद बाइक स्टार्ट कर ऊना की तरफ चला गया। डीएसपी ने बताया कि पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है। करीब 200 लोगों से पूछताछ की गई है।

परिजनों व दोस्तों से होती थी बात

डीएसपी अशोक वर्मा ने बताया कि सुमित के मोबाइल की कॉल डिटेंल भी खंगाली गई। इसमें पाया कि 24 सिंतबर दोपहर 12 बजे बड़ी बहन ने सुमित को तीन कॉल किए, लेकिन सुमित ने कॉल रिसीव नहीं की। सुमित के फूफा ने भी कॉल किए, लेकिन कॉल नहीं उठाया गया। धुंधला से निकल जाने के बाद ननिहाल के परिजनों ने 4 कॉल किए, लेकिन कोई जवाब नहीं दिया। जांच के दौरान पाया गया कि कुछ परिजनों एवं करीब चार दोस्तों के अलावा सुमित किसी से बातचीत नहीं करता था। मोबाइल पर खरोंच पाई गई है व इनर सर्कट में पानी के अंश पाए गए हैं।

अब होगा पोलीग्राफ टेस्ट

डीएसपी ने बताया कि इस मामले में पुलिस अब पोलीग्राफ टेस्ट करवाने की तैयारी में है।  उन्होंने बताया कि पुलिस करीब आधा दर्जन लोगों का लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाएगी। इनसे पुलिस पहले भी पूछताछ कर चुकी है। परिजनों को जिस पर शक है, उसका भी टेस्ट करवाया जाएगा।

फॉरेंसिक रिपोर्ट के बाद बनाई जाएगी रणनीति

जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़ ने कहा कि हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं हैं। क्योंकि उसमें सुमित की मौत की बजह फंदा लगाना बताया जा रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि शव कुछ हफ्ते पुराना है। अगर सुमित ने दो सप्ताह पहले फंदा लगने से मौत हुई, तो उसे जंगल में किसी पक्षी ने नोचा क्यों नहीं? जिससे संदेह पैदा होता है। सुमित की पेंट, पर्स और बाइक की चाबी कहां है, अगर सुसाइड करना था तो उसे अपनी पहचान छिपाने की क्या जरूरत थी। यह बातें संदेह के दायरे में है, जिनसे हम संतुष्ट नहीं हैं। हमें जांच अधिकारी ने अगले हफ्ते तक फॉरेंसिक रिपोर्ट आने की बात कही है। जिसकी हम प्रतीक्षा करेंगे। इसके बाद ग्रामीणों के साथ आगामी रणनीति बनाई जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है