Covid-19 Update

56,978
मामले (हिमाचल)
55,383
मरीज ठीक हुए
955
मौत
10,579,053
मामले (भारत)
95,675,630
मामले (दुनिया)

टांडा मेडिकल कॉलेज का Super Specialty ब्लॉक कोरोना आइसोलेशन वार्ड में तब्दील

सुपर स्पेशलिटी सेवाएं बंद नहीं की गई बंद, स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

टांडा मेडिकल कॉलेज का Super Specialty ब्लॉक कोरोना आइसोलेशन वार्ड में तब्दील

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ने पर सरकार ने टांडा मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिटी (Super Specialty) ब्लॉक को फिर से कोरोना आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में तब्दील कर दिया है। हालांकि टांडा मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी सेवाएं बंद नहीं की गई हैं, बल्कि अन्य विभागों में ये सेवाएं मरीजों को उपलब्ध करवाई जाती हैं। ये बात स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने आज प्रदेश विधानसभा में नगरोटा बगवां से विधायक अरुण कुमार द्वारा कांगड़ा के एक निजी अस्पताल प्रबंधन की ओर से कोरोना से संक्रमित चिकित्सकों, स्टाफ और रोगियों के आंकड़ों को छुपाए जाने तथा टांडा मेडिकल कॉलेज (Tanda Medical College) में सुपर स्पेशलिटी बंद होने के मामले में लाए गए ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जवाब में कही।

यह भी पढ़ें: Video : कोविड केयर सेंटर धर्मशाला का देखो आंखों देखा हाल, बिस्तरों पर पड़ी है लैटरीन

डॉ. सैजल ने कहा कि इस समय टांडा मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में 9 विभागों की सेवाएं रोगियों को उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इनमें कार्डियोलोजी, न्यूरोलोजी, रेडियोथेरेपी, सीटीवीएस, न्यूरोसर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी, यूरोलाजी, एंडोक्रिनोलॉजी (Endocrinology) और ग्रेस्ट्रोइन्ट्रोलॉजी व हिप्टोलॉजी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि टांडा में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक को 31 मार्च से 24 मई तक कोविड-19 आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित कर दिया गया था। इसके बाद सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की सारी ओपीडी (OPD) को सुचारू रूप से खोल दिया गया था। उन्होंने कहा कि 22 अगस्त से सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक को फिर से कोविड-19 आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: #Corona_Update : कोरोना ने हिमाचल में दो और की ली जान, IGMC में थे भर्ती

उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशलिटी विभाग में जनवरी, 2020 से अब तक 1500 रोगियों की एंडोस्कोपी की जा चुकी है। रेडियोथरैपी विभाग में 5700 रोगियों की कीमोथरैपी व 400 मरीजों की रेडियोथेरेपी की जा चुकी है। वहीं, कैंसर पीड़ित मरीजों का इलाज इसी ब्लॉक में किया जा रहा है व इन मरीजों के लिए इस ब्लॉक में अलग से दरवाजा बनाया गया है। इसके अलावा न्यूरोसर्जरी (Neurosurgery) विभाग में 83 मरीजों की सर्जरी की गई। कार्डियोलॉजी विभाग में इकोकार्डियोग्राफी के 935, टीएमटी 404, एंजियोप्लास्टी के 226 व एन्जियोग्राफी के 572 रोगियों का उपचार किया गया है।

यह भी पढ़ें: #Himachal_Vidhansabha के पूर्व उपाध्यक्ष राम नाथ नहीं रहे, Chandigarh में ली अंतिम सांस

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि निजी अस्पताल फोर्टिस कोरोना को लेकर प्रतिदिन आंकड़े शेयर कर रहा है। उन्होंने कहा कि सदस्य की कोविड प्रोटोकॉल की चिंता सही है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में 129 लोगों की कोविड जांच की गई है। इनमें से 28 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं और इनमें से 24 मामले अस्पताल स्टाफ के हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी अस्पतालों सभी को कोविड नियमों का पालना करना अनिवार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि जिला कांगड़ा में अब तक 53 हजार कोविड टेस्ट करवाए जा चुके हैं।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है