Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

शराब मालिक ने Supreme Court के आदेशों का ऐसे निकाला तोड़

शराब मालिक ने Supreme Court  के आदेशों का ऐसे निकाला तोड़

- Advertisement -

Supreme Court Order  : एर्नाकुलम। हाईवे के किनारे शराब की दुकानों को बंद करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश को कुछ लोगों ने मान लिया तो कुछ ने इन आदेशों  का तोड़ निकाल लिया। शराब दुकान मालिकों ने ऐसी दिलचस्प काट निकाली है कि देखने वाले हैरान रह जाएं। शराब बेचने वालों ने कोर्ट के आदेश का पालन तो किया लेकिन कुछ इस अंदाज में कि उनकी दुकानें भी चलती रहें और कोर्ट की नाफरमानी भी न हो। ऐसी ही एक शराब दुकान केरल के एर्नाकुलम जिले के उत्तरी परावुर में है जो पहले हाईवे से 150 मीटर की दूरी पर थी और कोर्ट के आदेश के बाद अब 520 मीटर की दूरी पर है।

Supreme Court Order : हाइवे से 370 मीटर दूर शराब की दुकान

मजे की बात यह है कि हाइवे से 370 मीटर दूर जाने के बावजूद यह दुकान वहीं है, जहां पहले थी। तस्वीर को देखकर आपको पूरी बात समझ आ गई होगी। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि शराब की कोई दुकान हाईवे से नहीं दिखनी चाहिए या हाइवे से 500 मीटर की सीधी पहुंच में नहीं होनी चाहिए। कोर्ट के आदेश की इसी तकनीकी कमी का फायदा उठाते हुए उत्तरी परावुर में नेशनल हाईवे 17 के किनारे बने ऐश्वर्या बियर और वाइन पार्लर ने दुकान के चारों तरफ दीवार बना कर बीच में रास्ता तैयार कर दिया है। कुछ इस तरह कि हाइवे से पैदल चलकर आने पर यह दूरी 520 मीटर हो गई है। ऐसे में कोर्ट के आदेश का पालन भी हो गया और दुकान भी वहीं की वहीं हैं। बार के मैनेजर ने शिजू पी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 1 अप्रैल को दुकान बंद कर दी गई थी, लेकिन अब इस रास्ते के तैयार होने के बाद इसे फिर से शुरू कर दिया गया है क्योंकि अब दुकान हाईवे से 520 मीटर की दूरी पर हो गई है।


खास बात यह है कि प्रशासन और आबकारी विभाग के अफसरों को भी इस पर कोई आपत्ति नहीं है। अतिरिक्त आबकारी कमिश्नर ए विजयन ने बताया, हम हवाई दूरी नहीं नापते बल्कि पैदल दूरी नापते हैं। हालांकि, एंट्री को बदलने के लिए उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। साफ है कि कोर्ट के आदेश की जिस तरीके से काट निकाली जा रही है, उससे वह मंशा पूरी नहीं हो रही है जो इस फैसले के पीछे थी। इसके पहले कोर्ट के आदेश से बचने के लिए कई राज्यों ने स्टेट हाइवे को डिनोटिफाइ करना भी शुरू कर दिया था।

ये भी पढ़ें : तोड़ः शराब के ठेकों के चक्कर में 16 State Highway बना दिए मेजर District Road

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है