Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

सुशांत ने जयराम को दिया दो दिन का Ultimatum, अमित शाह से करेंगे वरना शिकायत

सुशांत ने जयराम को दिया दो दिन का Ultimatum, अमित शाह से करेंगे वरना शिकायत

- Advertisement -

शिमला। पौंग बांध विस्थापितों (Pong Dam Displaced) के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ पूर्व सांसद राजन सुशांत (Ex MP Rajan Sushant) ने सरकार पर पर कई सवाल उठाए हैं। मीडिया से बातचीत के दौरान सुशांत ने कहा कि अगर विस्थापितों के मामले को दो दिन में ना सुलझाया गया तो वह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) से शिकायत करेंगे। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार (Jai Ram Government) ने अधिकारियों को इस मामले को सुलझाने के आदेश दिए हैं पर अधिकारी उनकी बात सुनते ही नहीं है, ऐसे में विथापितों का सरकार के प्रति रोष बढ़ रहा है।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखने के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

सुशांत ने पौंग विस्थापितों की हकों की बात करते हुए कहा कि वाइल्ड लाइफ के साथ खेती कर रहे किसानों को जमीन से उजाड़ा जा रहा है। किसान कब्ज़े वाली भूमि पर खेती करना चाह रहे हैं, लेकिन वन विभाग इसमें रोड़े अटका रहा है। वाइल्ड लाइफ विभाग खेती करने से प्रवासी पक्षियों के ऊपर पड़ने वाले असर की बात कह रहा है जो गलत है। खेती करने से पक्षी भागेंगे नहीं बल्कि ओर बढ़ेंगे। वन विभाग के अधिकारी सीएम को ग़ुमराह कर रहे हैं। सीएम जयराम के आश्वासन के बावजूद पौंग का मामला लटका पड़ा है।

सुशांत ने कहा कि सीएम जयराम से अंतिम आग्रह करते हुए कहा है कि 50 हज़ार किसानों की रोज़ी का सवाल है। सरकार किसानों को हक़ दिलाए उन्हें मरने ना दें। यदि अगले दो दिन तक इस पर कुछ नहीं हुआ तो वह गृह मंत्री अमित शाह से प्रदेश सरकार की शिकायत करने जाएंगे। उन्होंने ये भी कहा है कि किसानों के साथ ट्रैक्टर लेकर खेत जोतेंगे सरकार जो चाहे कर ले। पौंग विस्थापितों की सवा तीन लाख एकड़ जमीन डैम की भेंट चढ़ गई थी। अब डैम का पानी कम होने से खाली जमीन पर किसान खेती करते है, किसानों को वहां खेती क्यों नहीं करने दी जा रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है