Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

3 गए थे मिलने, 1 की आते ही लगी Class, दूसरा तैयार!

3 गए थे मिलने, 1 की आते ही लगी Class, दूसरा तैयार!

- Advertisement -

suspense: 3 एसोसिएट एमएलए राहुल से मिले या मिलवाए, लगी धुंध छंटने

suspense: शिमला। कांग्रेस सरकार के साथ बतौर चार साल तक मलाई काटने वाले एसोसिएट एमएलए चाहे तीन रोज पहले राहुल गांधी से दिल्ली में मिल आए हों, पर सवाल यह उठने लगा है कि वह खुद मिलने गए थे या फिर मिलवा दिए गए थे।जिस तरह से सोमवार को इंदौरा के एमएलए मनोहर धीमान ने तो समर्थकों संग अपने इरादे बीजेपी के साथ जाने के स्पष्ट कर दिए अब बारी कांगड़ा से पवन काजल की है।

मनोहर के बाद काजल पर सस्पेंस, किरनेश हैं वीरभद्र के संग-संग

प्रश्न यह है कि काजल कब तक कांग्रेस का हाथ पकड़कर चलते हैं, इस बात पर अभी सस्पेंस बना हुआ है। राहुल से मिले तीन एसोसिएट में से मात्र पांवटा से किरनेश जंग ही हैं, जो सीएम वीरभद्र सिंह के संग-संग चलने को तैयार हैं, इससे पहले चौपाल से बलवीर वर्मा पहले ही बीजेपी का दामन थाम चुके हैं। प्रदेश में चल रही राजनीतिक गहमागहमी के बीच अब एक एसोसिएट पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं,उनका अगला कदम क्या रहता है। वह हैं कांगड़ा से पवन काजल, क्या वह भी मनोहर की तरह समर्थकों की बैठक बुलाकर उनके कहे पर चलने की बात करते हैं या फिर कोई और पैंतरा अपनाते हैं।


4 साल कांग्रेस सरकार के संग काट अब पकड़ रहे वापसी की राह

यहां इस बात पर भी सस्पेंस बना हुआ है कि कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र से संबंधित अभी कुछ बड़ी घोषणाओं को सरकारी जामा पहनाया जाना है। जिनमें कांगड़ा के मटौर का कॉलेज, कांगड़ा का दशहरा इत्यादि-इत्यादि। क्या काजल उस वक्त तक इंतजार करते हैं,उसके बाद अगला कदम उठाते हैं। खैर जो भी हो यहां यह बात उठना लाजमी है कि दिल्ली में जो इनकी मुलाकात कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से हुई है उसके पीछे की मंशा क्या थी,क्या कहीं इन्हें कुछ और कहकर मिलवाया गया या यह अपनी मर्जी से गए। इसमें पर्दे के पीछे की राजनीति जो भी रही हो पर चार साल कांग्रेस सरकार के साथ रहकर अब वापसी की राह ताक रहे हैं।

Manohar की लगी क्लास, BJP या Independent लड़ने की हुई बात

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है