Expand

पंजाब जाने वाली हरियाणा Roadways की बसें बंद

पंजाब जाने वाली हरियाणा Roadways की बसें बंद

चंडीगढ़। SYL यानि सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अ‍मरिंदर सिंह गुरुवार को ही लोकसभा से इस्तीफा दे चुके हैं। इस मुद्दे पर कांग्रेस के 42 विधायकों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पंजाब व हरियाणा के राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है।

इसी बीच सतलुज-यमुना लिंक नहर विवाद के चलते हरियाणा रोडवेज ने जींद से पंजाब जाने वाली सभी रूटों की बसें बंद कर दी हैं। परिवहन विभाग ने सुरक्षा की दृष्टि से यह कदम उठाया है। इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि हम अपने विधायकों और सांसदों के साथ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को मेमोरेंडम सौपेंगे।

उन्होंने कहा, ‘हम वर्तमान सरकार के खिलाफ विरोध शुरू करेंगे क्योंकि सरकार पंजाब के हित में काम नहीं कर रही है। कांग्रेस के सभी विधायकों के इस्तीफे के बाद पंजाब में विधान सभा चुनाव से पहले राष्ट्रपति शासन की भी आशंका जताई जा रही है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने सतलुज यमुना लिंक (SYL) नहर पर निर्माण कार्य को जारी रखने का आदेश दिया है।sc2

  • पंजाब कांग्रेस के 42 विधायकों ने एक साथ दिया इस्तीफा
  • जींद से पंजाब जाने वाली हरियाणा रोडवेज की सभी बसें बंद
  • पंजाब में विधान सभा चुनाव से पहले राष्ट्रपति शासन की आशंका
  • SYL मुद्दे पर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र 16 नवंबर कोसुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फैसला सुनाते हुए कहा कि पंजाब अन्य राज्यों के साथ हुए समझौते से एकतरफा निर्णय करके बाहर नहीं जा सकता। कोर्ट ने सतलुज यमुना संपर्क नहर मामले में राष्ट्रपति द्वारा भेजे गए सवालों का नकारात्मक जवाब देते हुए कहा कि इस तरह अन्य राज्यों के साथ जल बंटवारे का समझौता रद्द करने का पंजाब का कानून अवैध है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले तुरंत बाद इस मसले को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई थी। बैठक में फैसला लिया गया कि पंजाब पानी की एक भी बूंद पंजाब से बाहर जाने नहीं देगा। प्रकाश सिंह बादल की अगुवाई में हुई इस आपात बैठक में फैसला लिया गया कि इस मसले को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अपील की जाएगी कि वो भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ना मानें। इस मसले को लेकर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र 16 नवंबर को बुलाया गया है।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है