निंगमा परंपरा के प्रमुख तकलुंग त्सेत्रुल रिनपोछे ने दलाई लामा से लिया आर्शीवाद

4 वर्षीय नवांग ताशी राप्टेन की तकलुंग त्सेत्रुल रिनपोछे के रूप में हुई है पहचान

निंगमा परंपरा के प्रमुख तकलुंग त्सेत्रुल रिनपोछे ने दलाई लामा से लिया आर्शीवाद

- Advertisement -

धर्मशाला। तिब्बती बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा (Dalai Lama) ने गुरुवार को मैकलोडगंज (Mcleodganj) में तिब्बती बौद्ध धर्म के निंगमा स्कूल के प्रमुख तकलुंग त्सेत्रुल रिनपोछे (Taklung Tsetrul Rinpoche) के रूप में पहचाने गए 4 वर्षीय नवांग ताशी राप्टेन और उनके परिवार के सदस्यों से मुलाकात की और उन्हें आशीर्वाद दिया।


dalai-Lama

dalai-Lama

इसके बाद वह पूजा अर्चना के लिए तिब्बती संसद के समीप नेचूंग बौद्ध मठ पहुंचे। इस दौरान रिनपोछे की मां ने कहा कि गुरु 2 दिवसीय दौरे पर धर्मशाला पहुंचे है और इसके बाद वापस शिमला के लिए रवाना होंगे।

dalai-Lama

dalai-Lama

बता दंे कि लाहुल स्पीति के 4 साल के बच्चे नवांग ताशी राप्टेन (Nawang Tashi Rapten) की पहचान रिनपोछे के पुनर्जन्म के रूप में हुई है। नवांग ताशी राप्टेन को 28 नवंबर को शिमला (Shimla) के दोरजीदक बौद्ध मठ में एक धार्मिक समारोह में तिब्बती बौद्ध धर्म के निंगमा स्कूल के प्रमुख तकलुंग त्सेत्रुल रिनपोछे के पुनर्जन्म के रूप में औपचारिक रूप से पहचाना गया। 2015 में रिनपोछे का निधन हो गया था। उनके धार्मिक शिक्षक के रूप में उनकी औपचारिक पहचान के लिएए कई बौद्ध भिक्षुओं ने मठ में नवांग का स्वागत किया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है