×

नगर निगम में शामिल होने वाले गांवों से नहीं लिया जाएगा 5 वर्ष तक #Tax

सबसे पहले ग्रामीण क्षेत्रों में खिंची जाएगी विकास की लकीर

नगर निगम में शामिल होने वाले गांवों से नहीं लिया जाएगा 5 वर्ष तक #Tax

- Advertisement -

मंडी। जिला के मंडी (Mandi) शहर को नगर परिषद से नगर निगम (MC) बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने 15 दिन का समय दिया है। इसी बीच मंडी नगर परिषद की अध्यक्ष सुमन ठाकुर ने आज प्रेस वार्ता कर नगर निगम बनने के फायदों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने नगर निगम को लेकर कई प्रकार की भ्रातियों पर भी अंकुश लगाया है। नगर परिषद मंडी की अध्यक्ष सुमन ठाकुर ने ऐलान किया है कि जिन ग्रामीण क्षेत्रों को नगर निगम मंडी में शमिल किया जाना है, उनसे 5 वर्ष तक किसी प्रकार का कोई टैक्स (#Tax) नहीं लिया जाएगा। इन ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे पहले विकास की लकीर खिंची जाएगी। उसके बाद ही यहां पर विभिन्न प्रकार के टैक्स वसूलने का खाका बनाया जाएगा। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि अभी तक टैक्स लेने के लिए ए, बी, सी व डी कैटेगरी बनाई गई है, लेकिन अगर आवश्यकता पड़ी तो नगर निगम ग्रामीणों को राहत देने के लिए न्यूनतम टैक्स रखने का प्रावधान करेगी। इसके तहत टैक्स की श्रेणियों को बढ़ाते हुए इसे इ या एफ तक घटाया जा सकता है, जिसमें की सिर्फ नाममात्र का ही कर ग्रामीणों को देना होगा। इसके साथ ही नगर परिषद मंडी की अध्यक्ष सुमन ठाकुर ने लोगों से समाज में नगर निगम के खिलाफ फैलाई जा रही भ्रांतियों पर विराम लगाकर नगर निगम मंडी का लोगों से समर्थन करने का आह्वान किया है।


यह भी पढ़ें: हिमाचल में छह माह बाद खुली ITI, 50% स्टाफ और छात्रों को बुलाया, एंट्री पर हुई Thermal Screening

वहीं कुछ लोगों के द्वारा ऐसी भी भ्रातियां फैलाई जा रही हैं कि जो ग्रामीण क्षेत्र नगर निगम मंडी में शामिल किए जाएंगे, उनके रोजगार पर इसका असर पड़ेगा। साथ ही कुछ लोगों का मानना है कि नगर निगम में शामिल होने पर मनरेगा समाप्त कर दिया जाएगा। इन सब बातों को नगर परिषद अध्यक्ष ने सिरे से खारिज करते हुए कहा कि गांवों में मनरेगा (MGNREGA) है तो शहरों में भी मुख्यमंत्री शहरी रोजगार गारंटी योजना है, जिसमें लोगों को 120 दिनों का रोजगार दिया जाता है। इसके साथ ही शहरों में मजदूरी भी गांवों की तुलना में अधिक दी जाती है।

यह भी पढ़ें: #Una : अंतरराष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस पर वरिष्ठ नागरिकों को सम्मान

बता दें कि प्रदेश सरकार ने मंडी नगर परिषद को नगर निगम बनाने के लिए कवायद तेज करते हुए इसके लिए लोगों को 15 दिन का समय दिया गया है, जिसमें से आधा समय बीत भी चुका है। ऐसे में नगर परिषद की अध्यक्ष ने लोगों से अपील की है कि वे मंडी के विकास को देखते हुए नगर निगम बनाने में अपना समर्थन दें। नगर परिषद मंडी की अध्यक्ष के साथ उपाध्यक्ष विरेंद्र शर्मा व शहर के सभी पार्षदगण मौजूद रहे व नगर निगम मंडी बनाने का पुरजोर समर्थन किया।

 an example image

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 an example image

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है