×

जालंधर के इस टीचर ने बनाया पंजाबी बोलने -समझने वाला रोबोट, जाने क्या है खासियत

रोबोट को करीब 50 हजार रूपये खर्च कर मात्र 7 महीने में तैयार किया

जालंधर के इस टीचर ने बनाया पंजाबी बोलने -समझने वाला रोबोट, जाने क्या है खासियत

- Advertisement -

आपने इंग्लिश व हिंदी समझने व बोलने वाले रोबोट ( Robot) के बारे में तो सुना होगा। लेकिन पंजाबी बोलने व समझने वाला रोबोट दुनिया में आ चुका है। ये दुनिया का पहला रोबोट है जो पंजाबी समझ व बोल सकता है। पंजाब में जालंधर के सरकारी हाईस्कूल के कंप्यूटर टीचर हरजीत सिंह ( Computer Teacher Harjit Singh) ने पंजाबी बोलने व समझने वाला रोबोट बनाया है और इसका नाम रखा है ‘सरबंस कौर’। जालंधर के गांव रोहजड़ी के सरकारी हाईस्कूल के अध्यापक ने इस रोबोट को करीब 50 हजार रूपये खर्च कर मात्र 7 महीने में तैयार किया है। नाम यानी सरबंस कौर ( Sarbans Kaur) लेने पर यह एक्टिव होता है और शुरुआत में सत श्री अकाल से लेकर अब रोबोट गुरबाणी भी सुनाता है।


यह भी पढ़ें:  असम के इस गांव में आकर आखिर क्यों करते हैं पक्षी सुसाइड, पढ़े क्या है रहस्य

हरजीत सिंह का कहना है कि सरबंस कौर को बनाने का काम उन्होंने लॉकडाउन के दौरान शुरु किया और इसके बाद वे रात के समय इसका काम करते थे। अध्यापक होने के नाते वह चाहते थे कि बच्चों को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग आसानी से समझ आ जाए। इसके लिए उन्होंने पंजाबी में सरबंस नाम की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तैयार की थी।

सबसे पहले कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तैयार करने के लिए उन्होंने अंग्रेजी के शब्दों को पंजाबी में अनुवाद किया। इसी लैंग्वेज के आधार पर उन्होंने रोबोट तैयार किया। अब बारी थी रोबोट को आवाज देने की तो ये काम उनकी उनकी पत्नी जसप्रीत कौर संभाला। पत्नी की रिकॉडिड आवाज में सुधार कर उसे रोबोट में फीड कर दिया। हरजीत सिंह का कहना है कि सरबंस कौर रोबोट जो भी फीड करना चाहें, कर सकते हैं। इसके बाद जब भी उससे पूछा जाता है तो वह सामने वाले को जवाब देता है। रोबोट तैयार करने में बच्चों के खिलौने, कॉपी के कवर, गत्ता, पेन, प्लग व बिजली की तारों का इस्तेमाल किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है