Covid-19 Update

56,943
मामले (हिमाचल)
55,280
मरीज ठीक हुए
954
मौत
10,566,720
मामले (भारत)
95,173,803
मामले (दुनिया)

Air India की महिला पायलटों ने रचा इतिहास, दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग की उड़ान भरकर लौटीं

17 घंटे में तय की करीब 16,000 किलोमीटर की दूरी

Air India की महिला पायलटों ने रचा इतिहास, दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग की उड़ान भरकर लौटीं

- Advertisement -

बेंगलुरु। कभी जिस देश में ये कहा जाता था लड़कियां पायलट नहीं बन सकतीं आज उसी देश की लड़कियों ने इतिहास रच दिया है। एयर इंडिया (Air India) की महिला पायलटों (Women Pilots) की एक टीम दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग उत्तरी ध्रुव (North Pole) पर उड़ान भरकर वतन लौटी है। अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को शहर से उड़ान भरने के बाद यह टीम नॉर्थ पोल से होते हुए बेंगलुरु पहुंच गई है। इस दौरान करीब 16,000 किलोमीटर की दूरी तय की गई। एयर इंडिया अपने ट्विटर हैंडल पर समय-समय पर उनके लोकेशन की जानकारी देता रहा।

एयर इंडिया के सूत्रों के मुताबिक उड़ान संख्या A-176 शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से रात 8.30 बजे (स्थानीय समयानुसार) रवाना हुई थी। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया कि कॉकपिट में पेशेवर, योग्य और आत्मविश्वासी महिला चालक सदस्यों ने एयर इंडिया के विमान से सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी है और वे उत्तरी ध्रुव से गुजरेंगी। हमारी नारी शक्ति ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है।

कैप्टन जोया अग्रवाल इस ऐतिहासिक उड़ान (Historical flight) का नेतृत्व कर रही थीं। को-पायलट के तौर पर जोया के साथ कैप्टन पापागरी तनमई, कैप्टन शिवानी और कैप्टन आकांक्षा सोनवरे थीं। कैप्टन जोया अग्रवाल ने कहा, आज, हमने नाकेवल उत्तरी ध्रुव पर उड़ान भरकर, बल्कि सभी महिला पायलटों के साथ उड़ान भरके इतिहास का निर्माण किया। हम इसका हिस्सा बनकर बेहद खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं। इस मार्ग से 10 टन ईंधन की बचत हुई है। कैप्टन शिवानी मन्हास ने कहा, ‘यह एक रोमांचक अनुभव था क्योंकि यह पहले कभी नहीं किया गया था। यहां तक पहुंचने में लगभग 17 घंटे लग गए।’

एयर इंडिया ने ट्वीट कर कहा कि ‘वेलकम होम, हमें आप सभी (महिला पायलटों) पर गर्व है। हम A-176 के पैसेंजर्स को भी बधाई देते हैं, जो इस ऐतिहासिक सफर का हिस्सा बने।’ यह बड़ी बात इसलिए भी है क्योंकि उत्तरी ध्रुव के ऊपर से होते हुए विमान उड़ाना काफी मुश्किल होता है और विमानन कंपनियां अनुभवी पायलटों को ही इस रूट पर भेजती हैं। एयर इंडिया के सूत्रों के मुताबिक, उड़ान संख्या एआइ-176 शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से रात 8.30 बजे (स्थानीय समयानुसार) रवाना हुई और एक महिला पायलट द्वारा बताया गया कि 17 घंटों के बाद यह बेंगलुरु पहुंची।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है