Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

Technomac scam : एडिशनल डायरेक्टर ने उगला कंपनी मालिक का एड्रेस, भारत लाने की कवायद शुरू

Technomac scam : एडिशनल डायरेक्टर ने उगला कंपनी मालिक का एड्रेस, भारत लाने की कवायद शुरू

- Advertisement -

शिमला। पांवटा साहिब के जगतपुर स्थित इंडियन टेक्नोमैक कंपनी (Indian Technomac Company based in Jagatpur of Paonta Sahib) का मालिक राकेश शर्मा दुबई में पकड़ा गया (Rakesh Sharma caught in Dubai) है इसी के साथ उसे भारत लाने की तैयारी भी शुरू हो गई है। डीजीपी एसआर मरड़ी (DGP SR Mardi) ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हिमाचल पुलिस (Himachal Police) ने राकेश शर्मा के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया। उन्होंने कहा कि हमें सूचना थी कि वह दुबई में है इस वजह से हमने उसे उद्घोषित अपराधी डिक्लेयर करवाकर सीबीआई के इंटरपोल डिवीजन के थ्रू 15 अक्तूबर को रेड कोनर नोटिस इश्यू करवाया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल की कैबिनेट मंत्री Sarveen अपनी ही सरकार से नाराज, मंच से जताई नाराजगी, वजह ये रही


 

लेकिन हमें दुबई का उसका एग्जैक्ट एड्रेस पता नहीं था। टेक्नोमैक का एडिशनल डायरेक्टर अनिल जैन (Additional Director Anil Jain) हरियाणा जेल में किसी और केस में बंद था। उसकी इंटेरोगेशन की गई तो उसने कबूल किया कि उसने राकेश शर्मा से संपर्क किया था। उसने उसका दुबई का एड्रेस दिया। राकेश का पासपोर्ट रिवॉक (Passport review) किया गया। इससे पता चला कि वह अफ्रीका के किसी देश का नकली पासपोर्ट बनाकर दुबई में रह रहा था। हमें सूचना मिली थी कि 2014 में चेक बाउंस केस में पुलिस ने उसको गिरफ्तार किया था।

 

वह किसी कंपनी में काम कर रहा था। हमने इंटरपोल के थ्रू एड्रेस दुबई पुलिस को दिया। इसके बाद उन्होंने उसे गिरफ्तार किया। अब हमें टेक्नोमैक घोटाले में राकेश शर्मा के इंवॉल्वमेंट के बारे में मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स (Ministry of external affairs) को सबूत देना है। इसके बाद उसका प्रत्यर्पण करवाकर उसे यहां गिरफ्तार किया जाएगा और उससे पूछताछ की जाएगी। डीजीपी ने बताया कि अब तक जो सामना आया है उसके आधार पर ये पता चला है कि लगभग साढ़े चार हजार करोड़ का स्कैम है। मामले में कुल 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें 9 कंपनी के कमचारी हैं और कुछ ऑडिटर्स को भी गिरफ्तार किया गया है। हमने प्रिसिंपल एजी से स्पेशल ऑडिट करवाने की बात रखी है। इससे और तथ्य सामने आ सकते हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है