Expand

NPA घटाने की पहल बैंकों को खुद ही करनी होगी: जेटली

NPA घटाने की पहल बैंकों को खुद ही करनी होगी: जेटली

- Advertisement -

वित्तीय संस्थानों के प्रमुखों के साथ तिमाही समीक्षा बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि अगर अर्थव्यवस्था में सुधार होता है तो बैंकों के एनपीए में कमी आएगी। उद्योगों में सुधार होने से बैंक अपने ऋणों की वसूली कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि एनपीए में ज्यादातर हिस्सेदारी इस्पात और आधारभूत क्षेत्र से जुडी कंपनियों की है। इन क्षेत्रों में सुधार के संकेत दिख रहे हैं और कुछ कंपनियों ने ऋण राशि का ब्याज आदि लौटाना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि एनपीए घटाने के लिए बैंकों को स्वयं पहल करने की जरूरत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बैंठक के दौरान परिसंपदाओं के गुणवत्ता और अन्य मुद्दों पर गंभीरता और व्यापकता से चर्चा की गयी। बैकिंग क्षेत्र की समस्याओं पर विचार विमर्श किया गया। उन्होंने कहा, ‘ पहली तिमाही में बैंकों का प्रदर्शन, वित्तीय समावेशन, वित्तीय साक्षरता, शिक्षा ऋण, कृषि ऋण, आवास ऋण और पेंशन से संबंधित मुद्दों पर प्रस्तुति दी गयी। जेटली ने बताया कि बैंकों के साइबर खतरों पर भी चिंतन किया गया और पाया गया कि भारतीय बैंकों का डाटा पूरी तरह से सुरक्षित हैं लेकिन लगातार सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आवास ऋण में वृद्धि हो रही है, जो आधारभूत ढांचा क्षेत्र के लिए बेहतर संकेत है। उन्होंने बताया कि बैठक में सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों स्टैंडअप इंडिया, मु्द्रा योजना और जन धन योजना पर भी चर्चा की गयी और इन्हें बेहतर रूप से लागू करने पर बल दिया गया। कृषि एवं बीमा क्षेत्र, मध्यम एवं लघु उद्यमों, अल्पसंख्यकों, अनुसूचित और जनजाति, शिक्षा एवं आवास ऋण समेत प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को दिए जाने वाले ऋण की स्थिति की भी समीक्षा की गयी। केंद्रीय वित्त मंत्री ने बैंकों द्वारा कार्यरूप दी जाने वाली केंद्र सरकार की योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा अटल पेंशन योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट तथा इसमें आ रही दिक्कतों की भी जानकारी ली। बैठक में वित्त राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार तथा वित्तीय सेवाएं विभाग की सचिव अंजुली चिब दुग्गल और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है