×

CM बोले, निराश न हो… Outsource कर्मियों के लिए बनेगी Policy

CM बोले, निराश न हो… Outsource कर्मियों के लिए बनेगी Policy

- Advertisement -

शिमला। सीएम के दरबार पहुंचे आउटसोर्स कर्मी खाली हाथ नहीं लौटे हैं। सीएम वीरभद्र सिंह ने खुले मंच से कहा कि उन्हें घबराने की आवश्यकता नहीं है। सरकार उनके हितों के बारे में सोचती है और उनके लिए नीति भी बनाई जा रही है। सीएम वीरभद्र सिंह ने ऐलान किया कि आउटसोर्स कर्मियों को अनुबंध पर लाने को समय सीमा तय होगी। उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग पर लगे कर्मचारी जब अनुबंध पर तेनात होंगे तो फिर वे नियमित भी होंगे।


  • कहा, सरकार नहीं चाहती जवानी में लगा कर्मचारी बुढ़ापे में हो रेगुलर
  • काम में रोड़े अटकाने वाले अफसर से निपटना जानता हूं

उन्होंने कहा कि सरकार ऐसा कदापि नहीं चाहेगी कि जो कर्मचारी आउटसोर्सिंग पर लगा है वह इसी पर ही रिटायर हो। न ही ऐसा होगा कि जवानी में लगे और बुढ़ापे में रेगुलर हो। वे आज यहां पीटरहॉफ में आउटसोर्स कर्मचारियों के सम्मेलन में बोल रहे थे। सीएम ने कहा कि आउटसोर्सिंग पर विभिन्न विभागों में लगे कर्मचारियों के लिए नीति बनाने में सरकार जुटी है और जल्द ही इसका खाका तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आउटसोर्स के तहत विभागों में तैनाती कोई नई बात नहीं है। हिमाचल ही नहीं, देश के अन्य राज्यों में भी इसी आधार पर भर्तियां हो रही है। विदेशों में भी इसी तरह से भर्तियां होती हैं।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि आउटसोर्स कर्मचारी जब अनुबंध पर आएंगे तो उनके स्थान पर नए लोग आउटसोर्स पर आएंगे और यह निरंतर प्रकिया है। उन्होंने कहा कि आउटसोर्स कर्मियों को निराश होने की जरूरत नहीं है। उनके भविष्य का सरकार ध्यान रखे दी। उनकी घोषणा से पीटरहाफ में जुटे हजारों आउटसोर्स कर्मियों ने सीएम के पक्ष में जोरदार नारेबाजी की। सीएम ने प्रदेश की ब्यूरोक्रेसी की तारीफ करते हुए कहा कि वे अपने स्तर पर अच्छा कार्य कर रही है। उन्होंने आउटसोर्स कर्मियों से कहा कि उन्हें अफसर शाही को बेवजह नहीं कोसना चाहिए। उन्होंने कहा कि अफसरशाही सरकार के दिशानिर्देशों के तहत कार्य करती है और वह देखती है कि प्रशासनिक कार्य कैसे करने हैं और उन्हें अपने बटुए का भी ध्यान रखना होता है। उन्होंने कहा कि अफसरशाही उनके आदेशों के विपरीत कार्य नहीं कर सकती और यदि कोई अफसर सरकार के काम में रोड़ा अटकाता है तो वे जानते हैं कि रोड़े कैसे हटाने हैं।

चुनाव में विपक्ष होता है सक्रिय

वीरभद्र सिंह ने इस दौरान विपक्ष पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दलों ने लोगों को क्षेत्रवाद के नाम पर बांटने का प्रयास किया है। चुनाव में ये दल ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं और क्षेत्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह करते हैं। उन्होंने कहा कि वे अपने काम से नहीं, बल्कि बांटने की राजनीति कर सत्ता में आते हैं और इससे राज्य का भला नहीं होता। इससे पहले 16 साल से सीने में दर्द छिपाए बैठे आउटसोर्स कर्मी सीएम वीरभद्र सिंह के सामने भावुक हो गए और कह उठे कि अब तो इस शोषण से हमें बचा लो।इन कर्मियों ने अपने 16 वर्ष की पीड़ा को सीएम से साझा किया और एक ही मांग को दोहराया कि अब तो उनका शोषण बंद करवाओ।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है