Expand

नाम मृत सागर… फिर भी है उपयोगी… जानें कैसे 

The Dead Sea is a salt lake whose banks are more than 400m below sea level, the lowest point on dry land.

नाम मृत सागर… फिर भी है उपयोगी… जानें कैसे 

- Advertisement -

The Dead Sea : मृत सागर एक ऐसी खारी झील है जो जॉर्डन और इजरायल के बीच में स्थित है। यह लगभग 80 किलोमीटर लंबी और 5 से 20 किलोमीटर चौड़ी है। समुद्र – तल से ऊंची होने के बजाय यह समुद्र – तल से लगभग 400 मीटर नीची है। कहा जाता है कि यह लगभग 430 मीटर ऊंची थी। तब इसमें जीव – जंतु रहते थे लेकिन आज इसमें कोई भी नहीं रहता है। इससे कोई नदी निकलने की बजाय इसमें जॉर्डन की नदी- नालें आकर मिलते हैं, और घुलनशील नमक को लाकर इसमें नमक की मात्रा बढ़ाते रहते हैं।
The Dead Seaइसका पानी न सिर्फ बहुत खारा है, बल्कि  पोटाश, ब्रोमाइड, मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिंक, सल्फर जैसे खनिज लवण भी काफी मात्रा में होने के कारण न तो इसका पानी और न इससे बनने वाला नमक हम खानपान में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके खारे पानी का भार इतना ज्यादा है कि इस पानी में सीधे लेट जाओ तो डूब नहीं सकते और बिना किसी डर के आसानी से तैर सकते हो। यह वास्तव में एक बड़ी और संकीर्ण नमक की झील है। तीन पर्वतमालाओं से घिरा है। नमक ज्यादा होने के कारण इसमें मछली या दूसरे जलीय जीव जीवित नहीं रह सकते। यदि गलती से कोई जीव मृत सागर में आ जाता है तो वह तुरंत मर जाता है। इसके अलावा यहां जलीय पौधे भी नहीं पनप पाते, केवल कुछ बैक्टीरिया और शैवाल ही मिलते हैं।
यही कारण है कि इसे मृत सागर का दर्जा दिया गया है। हालांकि इसमें नदियों से, वर्षा से ताजा पानी आता रहता है, लेकिन यहां का वातावरण और हवा काफी  शुष्क है। पूरे साल तापमान गर्म रहता है। इस कारण वाष्पीकरण तेज होने के कारण इसका पानी हर साल एक मीटर से अधिक कम हो जाता है और झील की लवणता बढ़ती जाती है।भले ही इस सागर में कोई जलीय जीव नहीं पनप पाता, पर इसका जल कई औषधीय गुणों से भरपूर है। इसे कई लाइलाज रोगों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। वैज्ञानिकों ने भी यह साबित कर दिया है कि यहां मिलने वाला नमक और खनिज लवण हमारे लिए मूल्यवान हो सकते हैं। मृत सागर के उत्तरी-पश्चिमी भाग में पर्यटन और स्वास्थ्य केन्द्र खोले गए हैं। मृत सागर के पानी के किनारे की काली मिट्टी और नमक से यहां विभिन्न स्पा और मड-थेरेपी के जरिये इलाज किया जाता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है