Covid-19 Update

1,98,361
मामले (हिमाचल)
1,90,296
मरीज ठीक हुए
3,369
मौत
29,439,989
मामले (भारत)
176,417,357
मामले (दुनिया)
×

ऑक्सीजन सप्लाई पर दिल्ली हाईकोर्ट सख्त, कहा – अड़चन डालने वालों को फांसी पर लटका देंगे

महाराजा अग्रसेन अस्पताल की एक याचिका पर सुनवाई के दौरान की टिप्पणी

ऑक्सीजन सप्लाई पर दिल्ली हाईकोर्ट सख्त, कहा – अड़चन डालने वालों को फांसी पर लटका देंगे

- Advertisement -

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कई बड़े अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं। इन अस्पतालों ने दिल्ली हाईकोर्ट से गुहार लगाई जिस पर कोर्ट सख्त टिप्पणी की है। दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने कहा कि अगर केंद्र, राज्य या स्थानीय प्रशासन में कोई अधिकारी ऑक्सीजन सप्लाई में अड़चन डाल रहा है तो हम उसे बख्शेंगे नहीं, उसे फांसी पर लटका देंगे। हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि वह बताए कि कौन ऑक्सीजन (Oxygen) की आपूर्ति को बाधित कर रहा है, हम उस व्यक्ति को लटका देंगे। बेंच ने कहा कि हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे। कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि वह स्थानीय प्रशासन के ऐसे अधिकारियों के बारे में केंद्र को भी बताए ताकि वह उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके।

यह भी पढ़ें: Himachal: ऑक्सीजन की 24 घंटे उपलब्धता लेकर Jai Ram Govt का बड़ा फैसला- जानिए

ये सख्त टिप्पणी महाराजा अग्रसेन अस्पताल (Maharaja Agrasen Hospital) की एक याचिका पर सुनवाई के दौरान जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच की ओर से की गई है। दिल्ली के महाराजा अग्रसेन अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन की भारी किल्लतों का सामना करना पड़ रहा है। ऑक्सीजन की कमी को दूर करने और तत्काल सप्लाई के लिए महाराजा अग्रसेन अस्पताल ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका लगाई। सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने हाईकोर्ट से कहा कि जो कुछ भी चल रहा है, हम उसे संभालने की कोशिश कर रहे हैं, हम ऑक्सीजन की आपूर्ति करेंगे, हालांकि, हम हवा से ऑक्सीजन नहीं बना सकते हैं। हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि जिम्मेदारी उन पर भी आती है। इस दौरान हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने को कहा है।


 

 

दिल्ली को 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत

वकील राहुल मेहरा ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा कि दिल्ली को 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का आवंटन जल्द किया जाए। उनका कहना है कि अगर हम व्यवस्था को क्रम में नहीं रखेंगे तो पूरी व्यवस्था ध्वस्त हो जाएगी। राहुल मेहरा ने हाईकोर्ट को सूचित किया कि हमारे कोटा 480 मीट्रिक टन के बावजूद शुक्रवार को दिल्ली को लगभग 296 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई थी। अगर हमें 480 मीट्रिक टन आवंटित ऑक्सीजन नहीं मिली तो 24 घंटे में पूरी फंक्शनिंग ठप हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: ऑक्सीजन की कमी से 25 मरे, कोविड अस्पताल में आग से 13 की मौत-3.32 लाख नए मरीज

केंद्र : पैनिक करने की जरूरत नहीं, सबसे बुरे के लिए रहना होगा तैयार

इसके अलावा दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल (Jaipur Golden Hospital) में ऑक्सीजन की कमी से 25 मरीजों की मौत हो गई है। इस बात की जानकारी अस्पताल के वकील ने आज हाईकोर्ट में दी। यहां कोरोना के 215 मरीज भर्ती है जिसमें से कई ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। आज भी अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत है और कई मरीजों की जान पर खतरा बना हुआ है। हाई कोर्ट ने कहा कि यह दूसरी लहर नहीं है बल्कि यह एक सुनामी है और अभी भी नए मामलों में तेजी आ रही हैं। हम उम्मीद कर रहे हैं कि मई के मध्य में यह पीक पर पहुंच जाएगा। हम इसकी तैयारी कैसे कर रहे हैं? इस पर केंद्र ने हाई कोर्ट से कहा कि आने वाले हफ्तों में नए मामलों में तेजी से वृद्धि हो सकती है। यह पैनिक करने की जरुरत नहीं है, लेकिन हमें सबसे बुरे के लिए तैयार रहना होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है