Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

Yuva INTUC ने दोहरायाः शिक्षा के नाम पर दुकानदारी बर्दाश्त नहीं

Yuva INTUC ने दोहरायाः शिक्षा के नाम पर दुकानदारी बर्दाश्त नहीं

- Advertisement -

शाहपुर। प्रदेश सरकार जब तक निजी स्कूलों की मनमानी को रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाती तब तक युवा इंटक की जंग जारी रहेगी। युवा इंटक के  राष्ट्रीय सचिव आशीष पटियाल ने कहा कि युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रमादित्या सिंह के हस्तक्षेप के बाद सीएम वीरभद्र सिंह ने निजी स्कूलों की मनमानी पर नकेल कसने का आश्वासन दिया है जिसके लिए युवा इंटक  विक्रमादित्या सिंह व सीएम का आभार व्यक्त करती है और उम्मीद व्यक्त करती है कि प्रदेश सरकार जल्द ही इस बारे ठोस कदम उठाएगी। आशीष ने कहा कि युवा इंटक द्वारा निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ छेड़ी गई मुहिम को भारी समर्थन मिल रहा है और यही वजह है कि सोलन में तो शिक्षा विभाग ने 182 निजी स्कूलों को नोटिस भी जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि युवा इंटक ने 27 फरवरी को सोलन से अपने इस आंदोलन का आगाज किया था तथा अब तक सोलन, ऊना, कांगड़ा, चंबा, हमीरपुर व बिलासपुर में सीएम वीरभद्र सिंह को ज्ञापन भेज कर पूरे प्रदेश में एक सम्मान फीस तय करने व इनकी निगरानी के लिए एक समिति गठित करने की मांग कर चुकी है, जबकि अन्य जिलों से ज्ञापन भेजने का सिलसिला जारी है।

  • निजी स्कूलों की मनमानी रोकने को नहीं उठाए जाते ठोस कदम, तब तक जारी रहेगी जंग
  • राष्ट्रीय सचिव  बोले, सोलन में शिक्षा विभाग ने 182 निजी स्कूलों को नोटिस भी किए हैं जारी

आशीष ने कहा कि पहले चरण में पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर ज्ञापन भेजे जा रहे हैं, जबकि दूसरे चरण में धरना-प्रदर्शन किए जाएंगे तथा तीसरे चरण में  उच्च न्यायालय में जन हित याचिका दायर की जाएगी। उन्होंने कहा कि आज निजी स्कूलों की मनमानी के चलते हर कोई तंग है। स्कूलों में सरकारी नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। किताब, वर्दियों के नाम पर स्कूलों के अंदर ही दुकानें खोल रखी हैं, जो सहन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि युवा इंटक की लड़ाई सभी निजी स्कूलों से नहीं है। आज भी कई ऐसे स्कूल हैं जो बेहतर कार्य कर रहे हैं। युवा इंटक की लड़ाई केवल उन लोगों से हैं, जो शिक्षा के नाम पर दुकानदारी चला रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है