Covid-19 Update

2,17,403
मामले (हिमाचल)
2,12,033
मरीज ठीक हुए
3,639
मौत
33,529,986
मामले (भारत)
230,045,673
मामले (दुनिया)

75 साल से अब तक रहस्य बनी हुई है बिना इंसान की परछाई

75 साल से अब तक रहस्य बनी हुई है बिना इंसान की परछाई

- Advertisement -

हमारी ये दुनिया में रहस्यमयों से भरी हुई है। कुछ खुले हैं तो कुछ हमारे सामने नहीं आते लेकिन मौजूद जरूर होते हैं। कुछ रहस्य ऐसे भी हैं कि जिनको समझ पाना असंभव ही लगता है। हम आज आपको एक ऐसे ही रहस्य (Mystery) के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। जिस रहस्य के बारे में आज हम बताने जा रहे हैं वह जापान के हिरोशिमा (Hiroshima) से जुड़ा है। दरअसल हिरोशिमा शहर में एक जगह पर इंसान जैसी दिखने वाली परछाई पिछले 75 साल से सबके लिए रहस्य बनी हुई है। इस परछाई को ‘द हिरोशिमा स्टेप्स शैडो’ या ‘शैडोज ऑफ हिरोशिमा’ के नाम से जाना जाता है।

धमाके वाली जगह से 850 फीट की दूरी पर थी परछाई

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जब अमेरिका ने हिरोशिमा पर परमाणु हमला (Nuclear attack) किया था, तो इस जोरदार धमाके ने यहां कई लाख लोगों की जान ले ली थी। यह विध्वंसक घटना छह अगस्त, 1945 को घटी थी। इस दौरान यह अजीबगरीब परछाई धमाके वाली जगह से 850 फीट की दूरी पर थी, जहां कोई व्यक्ति बैठा हुआ था। इस बारे में यहां एक किस्सा बड़ा ही मशहूर कुछ ये है कि परमाणु बम ने भले ही उस व्यक्ति को तो पूरी तरह से मिटा दिया, लेकिन उसकी  रह गई। हालांकि इस परछाई की हकीकत क्या है इस बारे में कुछ भी पुख्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता। इस वास्तविकता की कभी पहचान नहीं हो सकी कि आखिर परछाई में दिख रहा व्यक्ति कौन था, जो वहां पर बैठा हुआ था। एक अनुमान के मुताबिक, हिरोशिमा परमाणु विस्फोट में लगभग एक लाख 40 हजार लोगों की मौत हुई थी। जबकि बाद में परमाणु विकिरण संबंधी बीमारियों की वजह से कई हजारों लोगों की मौत हुई थी। ये परछाई आज भी एक रहस्य बनी हुई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है