Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

आज शाम 6 बजे तक बंद रहेंगी स्वास्थ्य सुविधाएं, जानिए क्यों #हड़ताल पर बैठे हैं #Doctor

इमर्जेंसी सेवाओं को छोड़ कर सभी स्वास्थ्य सुविधाएं रहेंगी ठप

आज शाम 6 बजे तक बंद रहेंगी स्वास्थ्य सुविधाएं, जानिए क्यों #हड़ताल पर बैठे हैं #Doctor

- Advertisement -

नई दिल्‍ली। देशभर में आज भारतीय चिकित्‍सा संघ (Indian Medical Association) हड़ताल कर रहा है। हड़ताल के तहत आज सुबह 6 बजे से शाम के 6 बजे तक इमर्जेंसी सेवाओं को छोड़ कर सभी स्वास्थ्य सुविधाएं ठप रहेंगी। इस दौरान सभी गैर-आपातकालीन और गैर-कोविड मेडिकल सेवाएं बंद रहेंगी। यह हड़ताल सरकार के एक फैसले के विरोध में की जा रही है। दरअसल, सरकार की ओर से आयुर्वेद (Ayurveda) के छात्रों को सर्जरी करने की अनुमति दे दी गई। सरकार के अध्‍यादेश में आयुर्वेद के छात्रों को नाक, कान, गला जैसी 58 तरह की सामान्‍य उपचार में सर्जरी की इजाजत दी गई है। काउंसिल ऑफ मेडिसिन की ओर से कुछ दिन पहले ही यह आदेश दिया गया। केंद्र सरकार की ओर से आयुर्वेद के विद्यार्थियों को सर्जरी की अनुमति देने वाले कदम को ‘मिक्‍सोपैथी’ करार दिया है। साथ ही आयुर्वेद डॉक्‍टर्स के सर्जरी करने की काबिलियत पर सवाल उठाया है।


ये भी पढे़ं – कोटा के JK Lone Hospital में फिर बवाल : 24 घंटे के अंदर नौ नवजात शिशुओं की #मौत

 


 

IMA की ओर से किए गए इस हड़ताल (Strike) के तहत देश भर में सभी क्लिनिक, नॉन-इमर्जेंसी हेल्‍थ सेंटर, ओपीडी, सर्जरी बंद रखने की अपील की गई है। वहीं आम लोगों की परेशानी और मुश्‍किलों को समझते हुए इमरजेंसी चिकित्‍सा सेवाओं, आइसीयू, कोविड केयर, सीसीयू, इमरजेंसी सर्जरी और लेबर रूम में काम अनवरत जारी रखने की अनुमति है। हड़ताल के लिए निर्धारित अवधि में आउटडोर पेशेंट डिपार्टमेंट (OPD) पूरी तरह बंद रहेगी। IMA ने इस हड़ताल में मॉडर्न मेडिसिन के सभी डॉक्‍टरों से शामिल होने की अपील की है। यह कदम सेंट्रल काउंसिल ऑफ इंडियन मेडिसिन (CCIM) के एक नोटिफिकेशन के बाद उठाया गया है जिसमें आयुर्वेद से पोस्‍ट ग्रेजुएट को सामान्‍य सर्जरी की इजाजत दे दी गई है। IMA के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष डॉक्‍टर आर शर्मा ने कहा, ‘आधुनिक चिकित्सा नियंत्रित और रिसर्च आधारित है, हमें आयुर्वेद की विरासत और समृद्धि पर गर्व है, लेकिन दोनों को एक साथ मिक्‍स नहीं किया जाना चाहिए।’

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है