Expand

खौला में IPH ने तोड़ा pump House, लोग बोले जाएंगे court

खौला में IPH  ने तोड़ा pump House, लोग बोले जाएंगे court

- Advertisement -

ज्वालामुखी।  बौहण भाटी के गांव खौला में  पंप हाउस तोड़ने को लेकर विवाद हो गया। आईपीएच विभाग ने पंप हाउस तोड़ दिया,  इस कार्रवाई के बाद विरोध कर रहा धड़ा नाराज हो गया है। लोगों ने इसे राजनीतिक से प्रेरित करार देते हुए मामले को कोर्ट ले जाने की चेतावनी दे डाली है। जानकारी के मुताबिक खौला गांव में एक रास्ते में आईपीएच विभाग का पंप हाउस था, जिसकी वजह से मार्ग तंग हो गया था और इस तंग मार्ग से लोगों का इस मार्ग से आना जाना मुश्किल हो गया था, उनके वाहनों को आने जाने में दिक्कतें हो रही थीं। उन्होंने विधायक संजय रतन के नोटिस में यह बात लाई थी तो विधायक ने प्रशासन को मामला शीघ्र ही निपटाने के आदेश दिए।

  • jawalamukhi1Pump House तोड़ने को लेकर उपजा विवाद, मौके पर पहुंचे एसडीएम
  • रास्ते को चौड़ा करने के लिए आईपीएच विभाग ने की कार्रवाई

आदेशों के बाद प्रशासन ने पंप हाउस के मौजूदा भवन को तोड़कर थोड़ा छोटा बना कर रास्ते को चौड़ा करने का निर्णय लिया। जब पंप हाउस का काम शुरू हुआ तो गांव के ही कुछ लोगों ने यह कह कर काम बंद करवा दिया कि उन्होंने इस पंप हाउस को जमीन दान में दी थी और भवन के लिए पैसे दिए थे, परंतु सरकार व प्रशासन अपनी मर्जी से बिना उनको विश्वास में लिए इस भवन को नहीं तोड़ सकते।

एसडीएम संजीव कुमार, डीएसपी कुलदीप कुमार, आईपीएच के अधिशाषी अभियंता सुरेश महाजन, सहायक अभियंता प्यारे लाल, कनिष्ठ अभियंता संदीप कुमार, एसएचओ संदीप कुमार शर्मा, राजस्व विभाग के अधिकारी व पुलिस की टीम मौके पर पहुंची थी। जब कुछ लोगों ने पंप हाउस को तोड़ने से रोका तो प्रशासन ने पुलिस जवानों से उनको वहां से हटवा दिया और चेतावनी दी कि सरकारी काम में बाधा डालने पर लोगों को थाने ले जाया जाएगा और उनके विरूद्व मामले दर्ज किए जाएंगे, जिस पर लोग वहां से हट गए।

  • कुछ लोगों को विकास रास नहीं आताः संजय रतन

police-2नाराज धड़े के लोगों धनी राम व  गोरखा राम ने कहा कि सब्जी मंडी ज्वालामुखी के पास धारड़ी रोड़ पर क्यारवां जगह में डैम औसतियों के घर के पास से यदि इस गांव को रास्ता बना दिया जाए तो न केवल यहां के कई घरों के लोगों को लाभ मिलेगा, बल्कि वे और भी सरकार को जहां जरूरत होगी अपनी निजी भूमि दान करने के लिए तैयार हैं।

पूर्व पंचायत प्रधान रमेश खौला ने कहा कि नेशनल हाई-वे को स्टेट हाई-वे से जोड़ दिया जाए तो समस्या का सदा के लिए हल हो सकता है। रमेश खौला ने कहा कि उन्होंने इस मसले को हल करने के लिए तीन दिसंबर को बैठक बुलाई थी, परंतु इससे पहले ही प्रशासन ने राजनीतिक दबाव में यह ऑपेरशन करके लोगों को दबाने का काम किया है, जिसकी शिकायत सक्षम न्यायालय में की जाएगी। एसडीएम संजीव कुमार ने कहा कि पंप हाउस आईपीएच विभाग का है, जब विभाग अपने भवन को तोड़ रहा है तो लोग कैसे रोक सकते हैं।

लोगों की सुविधा के लिए ही रास्ते को चौड़ा करने के लिए आईपीएच विभाग इस पंप हाउस को तोड़कर छोटा कर रहा है। आईपीएच विभाग के अधिशाषी अभियंता सुरेश महाजन ने कहा कि विभाग इस पंप हाउस को छोटा बना रहा है, ताकि तंग मार्ग को चौड़ा किया जा सके। विधायक संजय रतन का कहना है कि कुछ लोगों को विकास रास नहीं आता है, वे भोले-भाले लोगों को बहका कर ऐसी समस्याएं उत्पन्न करते हैं। जहां तक नेशनल हाई-वे को स्टेट हाई-वे को जोड़ने के लिए सड़क निर्माण की बात है, तो लोग उनसे मिल कर इस बारे बात कर सकते हैं, उसका भी हल किया जा सकता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है