Expand

स्काउट एंड गाइड शिविरों के हालः महिलाओं के कमरे में घुसे अध्यापक !

स्काउट एंड गाइड शिविरों के हालः महिलाओं के कमरे में घुसे अध्यापक !

- Advertisement -

ज्वालामुखी। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला ज्वालामुखी में राज्य स्तरीय स्काउट एंड गाइड के पांच दिवसीय शिविर के पहले ही दिन महिला शिक्षकों के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। सूत्रों के मुताबिक देर शाम शिविर में स्काउट एंड गाइड से ही जुड़े कुछ पुरुष अध्यापक, महिला अध्यापकों को आवंटित आवास स्थान पर घुस गए। इस पर महिला अध्यापक और उनकी सहयोगी स्टाफ सदस्य एकदम घबरा गईं और उन्होंने अंदर से दरवाजे बंद करके शोर मचाना शुरू कर दिया। उनके शोर को सुनकर वहां काफी भीड़ जमा हो गई और इस हरकत को अंजाम देने वाले महिला अध्यापकों के लिए आरक्षित आवास स्थान से चुपचाप खिसकते बने।

  • पुरुष अध्यापकों ने की घुसपैठ
  • ज्वालामुखी में राज्यस्तरीय शिविर में हंगामा
  • महिलाओं से बदसलूकी का आरोप   उच्चाधिकारियों के दबाव में मामले को दबाने का प्रयास
  • ज्वालामुखी में आज ही शुरू हुआ है स्काउट एंड गाइड का राज्य स्तरीय शिविर

111जब मामले की सूचना उच्चाधिकारियों को पहुंची तो फिर वही हुआ जो अकसर होता है और सभी मिलकर मामले को पूरी तरह से दबाने के प्रयास में जुट गए। उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद महिला अध्यापकों ने भी इस मामले में ख़ामोशी अख्तियार कर ली है। संपर्क करने पर एक महिला अध्यापक ने बताया कि कुछ बच्चे डांस की प्रैक्टिस के लिए आए थे, जिन्हें आज  प्रैक्टिस के लिए आने को कहा गया। लेकिन, उनकी यह बात आसानी से हजम नहीं हो रही की रात को करीब साढ़े 9 बजे के बाद बच्चे कौन सी प्रैक्टिस करना चाह रहे थे जिसे लेकर इतना विवाद हो गया और भीड़ जमा हो गई। सवाल यह भी उठता है कि क्या बच्चों को राज्य स्तरीय शिविर में लाने से पहले डांस की प्रैक्टिस नहीं करवाई गई थी या फिर उन्हें यह नहीं बताया गया था कि कब प्रैक्टिस करनी है। सनद रहे की कुछ दिन पहले भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था जिसमें आरोपियों के खिलाफ बाकायदा एफआईआर भी दर्ज करवाई गई थी। अब देखना यह है कि सुबह तक इस मामले में कोई कार्रवाई होती है या यह मामला भी प्रतिष्ठा के नाम पर दबकर रह जाता है। गौरतलब है कि इस पांच दिवसीय राज्य स्तरीय स्काउट एंड गाइड शिविर का आज ही शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने शुभारम्भ किया था।

उधर,  ब्वायज स्कूल के प्रिंसिलप बीएस अटवाल का कहना है कि महिलाओं के कमरे में किसी अध्यापक के जाने के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। जांच की जा रही है। वहीं, डीएसपी ज्वालामुखी का कहना है कि शनिवार सुबह उन्होंने पता चला है कि कुछ लड़कों को छात्राओं के आवास में कार्यक्रम की रिहार्सल करने के लिए बुलाया गया था, लेकिन बाद में उन्होंने वहां से वापस
भेज दिया गया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है