Covid-19 Update

2,16,813
मामले (हिमाचल)
2,11,554
मरीज ठीक हुए
3,633
मौत
33,448,163
मामले (भारत)
229,050,821
मामले (दुनिया)

कबाड़ बन चुके Truck में रह रही महिला को आखिरकार मिला कोई अपना

कबाड़ बन चुके Truck में रह रही महिला को आखिरकार मिला कोई अपना

- Advertisement -

पांवटा साहिब। सतौन क्षेत्र में कबाड़ हो चुके एक ट्रक (Truck) को अपना आशियाना बनाकर रह रही एक महिला (Woman) को आखिरकार अपनों का साथ मिल ही गया। यह कार्य प्रशासन व पुलिस के सहयोग से संभव हो पाया है। शनिवार को सतौन में महिला को लेने उसका चचेरा भाई काकू पहुंचा। इस दौरान राजबन पुलिस के कर्मी भी उपस्थित रहे। बता दें कि पिछले लंबे समय से महिला जिंद्रो देवी टूटे फूटे व कबाड़ हो चुके ट्रक में रह रही थी। लंबे समय से उसका जीवन ट्रक में ही बीत रहा था। कड़ाके की ठंड और बारिश के दौर के बीच भी महिला ट्रक में ही एक कंबल में अपना जीवन बिता रहा थी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल फिल्म सिटी ने लांच की अपनी Website, हिमाचली हुनर को किया जाएगा Promote

ट्रक के साथ एक चूल्हा जलाकर महिला अपने लिए चाय व खाने.पीने का साधन जुटाती। कुछ लोगों की नजर महिला पर पड़ी तो इस बारे एसडीएम पांवटा को जानकारी दी। साथ ही महिला के लिए मदद भी मांगी। लिहाजा, एसडीएम ने पुलिस को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। बताया जा रहा है कि 61 साल की जिंद्रो देवी बेसहारा जीवन जी रही है। वह मानसिक तौर पर भी अस्वस्थ बताई जा रही है।

उसके दो भाई भी पांवटा क्षेत्र में रह रहे हैं। बताया ये भी जा रहा है कि महिला के अपने परिवार में कोई सदस्य नहीं है जो उसकी देखभाल कर सके। ऐसे में महिला का एक भाई उसे लेने सतौन पहुंचा। पुलिस ने महिला को उसके भाई के सुपुर्द करने के बाद अपनों को मिलाने में अहम भूमिका निभाई। इस दौरान स्थानीय ग्रामीणों ने भी थोड़े बहुत पैसे जुटाकर महिला की मदद की। उधर, पुरुवाला पुलिस थाना के एसएचओ विजय रघुवंशी ने बताया कि महिला को उसके भाई के सुपुर्द कर दिया है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है