Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

भारत बंदः Himachal में भी होंगे प्रदर्शन, #Congress ने आम लोगों से मांगा समर्थन

तीन कृषि बिलों के खिलाफ हल्ला बोलेंगे विभिन्न संगठन

भारत बंदः Himachal में भी होंगे प्रदर्शन, #Congress ने आम लोगों से मांगा समर्थन

- Advertisement -

शिमला। केंद्र सरकार (Central Government) के तीन कृषि बिलों (Agricultural Bills) के खिलाफ भारत बंद के दौरान हिमाचल में भी प्रदर्शन होंगे। वहीं, कांग्रेस, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) व अन्य वामपंथी पार्टियों ने किसानों के भारत बंद के लिए आम जन से समर्थन मांगा है। सीटू (Citu), हिमाचल किसान सभा, जनवादी महिला समिति, डीवाईएफआई, एसएफआई व दलित शोषण मुक्ति मंच के हजारों कार्यकर्ता तीन किसान विरोधी कानूनों व बिजली संशोधन विधेयक 2020 को निरस्त करने की मांग को लेकर हिमाचल के गांव, ब्लॉक व जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन करके किसानों के आठ दिसंबर के भारत बंद में शामिल होंगे। इन संगठनों ने ऐलान किया है कि किसानों के आंदोलन के समर्थन में प्रदेश भर के मजदूरों, किसानों, महिलाओं, युवाओं, छात्रों व सामाजिक तथा आर्थिक रूप से पिछड़े तबकों द्वारा आंदोलन तेज किया जाएगा व 8 दिसंबर को भारत बंद के तहत गांव व शहरों में किसान, मजदूर व आम जनता पूर्ण कार्य बंद करेगी। सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा, महासचिव प्रेम गौतम, किसान सभा प्रदेशाध्यक्ष डॉ कुलदीप तंवर, महासचिव डॉ ओंकार शाद, महिला समिति प्रदेशाध्यक्ष डॉ रीना सिंह, सचिव फालमा चौहान, डीवाईएफआई (DYFI) प्रदेशाध्यक्ष अनिल मनकोटिया, सचिव चन्द्रकान्त वर्मा, एसएफआई प्रदेशाध्यक्ष रमन थारटा, सचिव अमित ठाकुर, दलित शोषण मुक्ति मंच संयोजक जगत राम व सह संयोजक आशीष कुमार ने हिमाचल प्रदेश के व्यापार मंडलों, नागरिक व सामाजिक संगठनों से किसानों के भारत बंद को सफल बनाने की अपील की है।


यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन: #Himachal में भड़की कृषि बिल के विरोध की ज्वाला, प्रदर्शन के साथ नारेबाजी

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Congress President Kuldeep Singh Rathore) ने केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में देश के किसानों के 8 दिसंबर के प्रस्तावित भारत बंद का आमजन से पूरा समर्थन मांगा है। उन्होंने कहा है कि देश के किसानों पर थोपे गए नए कृषि कानूनों का कांग्रेस पहले से ही विरोध करती आई है और 8 दिसंबर के किसानों के प्रस्तावित भारत बंद का कांग्रेस पुरजोर समर्थन करती है। उन्होंने प्रदेश के आम लोगों से भी किसानों को अपना पूरा समर्थन देने का आह्वान करते हुए कहा है कि देश के किसानों की रक्षा के लिए सब एकजुट होकर आगे आए।


 

यह भी पढ़ें: आठ दिसंबर को #Bharat_Bandh करेंगे किसान, कल फूंकेंगे #PM_Modi का पुतला

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी) व अन्य वामपंथी पार्टियां केंद्र की मोदी सरकार (Modi Govt) द्वारा पारित कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए देश के किसानों के द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन का समर्थन करती है तथा मांग करती हैं कि सरकार इन किसान विरोधी कृषि कानूनों व बिजली विधेयक, 2020 को तुरन्त वापिस ले। किसान संघर्ष समिति व अन्य संगठनों के द्वारा 8 दिसंबर के भारत बंद के आह्वान का समर्थन करती है। राज्य सचिवमंडल सदस्यभारत की कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी) संजय चौहान ने समस्त मजदूर व अन्य वर्गों जिसमें व्यापारी, कारोबारी, दुकानदार, उद्योग धंधे से जुड़े ट्रांसपोर्ट व अन्य सभी से आग्रह किया है कि बीजेपी (BJP) की मोदी सरकार की देश की कृषि व खाद्य सुरक्षा को बर्बाद करने वाले इन कानूनों को निरस्त करने के लिए इस भारत बंद में भगीदारी कर इसको सफल बनाएं।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है