Covid-19 Update

57,248
मामले (हिमाचल)
55,860
मरीज ठीक हुए
961
मौत
10,675,575
मामले (भारत)
99,954,497
मामले (दुनिया)

पानी को छोड़कर जमीन पर रहती हैं ये मछलियां, जानिए क्या है वजह

पानी को छोड़कर जमीन पर रहती हैं ये मछलियां, जानिए क्या है वजह

- Advertisement -

मछलियों को आपने हमेशा तालाब, नदी या समुद्र में तैरते देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि पानी को छोड़कर मछलियां जमीन पर भी रह सकती हैं। हाल ही में हुए एक शोध में यह बात सामने आई कि एक खास प्रजाति (Special species) की मछलियां पानी छोड़कर जमीन पर रहने लगी हैं। दरअसल, मछली की इस खास प्रजाति का नाम ‘ब्लेनिज’ है। इस प्रजाति की मछलियों की खासियत यह है कि उन्होंने कई बार समुद्र से बाहर आकर जमीन पर समय बिताया और धीरे-धीरे जमीन पर रहने की कला सीख ली। ब्लेनिज प्रजाति (Blennese species) की बहुत सारी मछलियां ऐसी हैं, जो पानी को बिल्कुल भूल गई हैं और पूरी तरह से जमीन पर रहने लगी हैं।

ब्लेनिज प्रजाति ने सीख ली जमीन पर जीने की कला

फंक्शनल इकोलॉजी (Functional ecology) में प्रकाशित एक शोध के नतीजे से यह पता चला कि ब्लेनिज प्रजाति की मछलियों ने अब जमीन पर जीने की कला सीख ली हैं। इस शोध के लिए ब्लेनीज मछली के सैकड़ों आंकड़े जमा किए, जिसके प्रजाति की कई तरह की मछलियां हैं। इन मछलियों में अभी भी कुछ पानी में रहती हैं, वहीं कुछ मछलियां ने पानी पूरी तरह से छोड़ दिया है। इन मछलियों ने जमीन पर ही अपने जीवन की व्यवस्था कर ली है। हालांकि, अभी वैज्ञानिक इनके जीवन में आए इस बदलाव की वजहों के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: सुनहरे खोल के साथ जन्मा दुर्लभ कछुआ Nepal में दिखा; विष्‍णु का अवतार मान दर्शन करने आ रहे हैं लोग

इस शोध के प्रमुख लेखक डॉ टेरी ओर्ड ने कहा, ‘हमारी पड़ताल आशय यह अनुमान लगाने से था कि जब कोई जीव अपना आवास बदलता है तो उसके खानपान की विविधता और बर्ताव के लचीलापन का उसे फायदा मिलता है, लेकिन प्राकृतिक चुनाव (Natural choice) के कारण यह लचीलापन खत्म होने लगता है। इसका मतलब यह हुआ कि अति विकसित प्रजातियों में बदलने की क्षमता कम होती जाती है या फिर अपने आवास में हुए पर्यावरण के बदलाव के साथ जूझने में परेशानी होती है।’ ब्लेनिज प्रजाति की मछलियां कुछ समय के लिए समुद्र के लहरों के साथ बाहर आ जाती हैं और साथ आए पानी से वे खुद को गीला भी रखती हैं। लेकिन धीरे-धीरे यह मछलियां पानी से बाहर ही रहने लगीं। उन्होंने खुद को बदलते तापमान और ऑक्सीजन स्तर के अनुकूल ढाल भी लिया है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है