केसर के ये उपाय चमकाएंगे आप की सोई किस्मत

केसर के ये उपाय चमकाएंगे आप की सोई किस्मत

- Advertisement -

प्रकृति ने हमें कई सारे ऐसे मसाले और जड़ी-बूटियां दी हैं जो कि हमारे लिए अनमोल है, इन्ही में से एक है केसर, जिसे अंग्रेजी में सैफ्रॉन कहते हैं, जबकि उर्दू और अरबी में इसे जाफरान कहते हैं। ज्योतिष में भी केसर को बेहद चमत्कारी माना गया है। केसर के फूल में चमकता हुआ स्टिग्मा पाया जाता है। स्टिग्मा को जब अच्छी तरह सुखाया जाता है तब जाकर केसर प्राप्त होता है। ये फूल जाड़े में हाथ से तोड़े जाते हैं। केसर का सुगंध पाने के लिए इसे पानी में भिगोना पड़ता है। ज्योतिष के अनुसार केसर का प्रतिनिधि ग्रह बृहस्पति है, जो कि सभी ग्रहों में सबसे उच्च माना जाता है। ऐसे में केसर का उचित ढंग से प्रयोग किया जाए तो इससे बृहस्पति मजबूत होता है और उसके परिणाम स्वरूप व्यक्ति को संसार में लोकप्रियता, मान-सम्मान और दाम्पत्य जीवन का सुख मिलता है।
ज्योतिषाचार्य पं. दयानन्द शास्त्री आपको केसर के प्रयोग वाले कुछ ऐसे ही ज्योतिषीय उपाय बताने जा रहे हैं जो कि आपके लिए बेहद लाभकारी साबित हो सकते हैं।
बृहस्पतिवार के दिन केसर का तिलक करें। केसर वाली खिरनी, गुरुवार को खुद खाएं और किसी गुरु को खिलाएं तो बृहस्पति सकारात्मक फल देता है।  
अगर महालक्ष्मी का ध्यान कर मस्तक पर शुद्ध केसर का तिलक लगाया जाए तो इससे शुभ समाचार की प्राप्ति होती है।
घर के मुख्यद्वार पर शुद्ध केसर से स्वास्तिक बनाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा आने से बचाव होता है और घर-परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
अगर आपके पास पैसों की कमी बनी रहती है तो इसके निवारण के लिए शुक्ल पक्ष के पहले बृहस्पतिवार को शुद्ध केसर का तिलक अपने माथे पर लगाए, इससे धन के मार्ग के सारे अवरोध खत्म हो जाएंगे। इस उपाय को नियमित रूप से करने से आपके लिए आय के नए स्त्रोंत खुलेंगे और धीर-धीरे आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर जाएगी ।
अगर पिता अपनी कन्या के विवाह के बाद केसर, हल्दी और थोड़ा सोना लेकर उसकी दो पुड़िया बनायें और उसे अपनी कन्या को दें। इनमें से एक पुड़िया कन्या अपने पास धन रखने के स्थान पर रखें लें और दूसरी पुड़िया किसी पीपल के पेड़ के नीचे चढ़ा दें। ऐसा करने से कन्या का वैवाहिक जीवन खुशहाल रहता है।
दिवाली की रात में बही-खाता, तिजोरी, कलम दवात के पूजन से पहले शुद्ध केसर मिला मीठा दही खा लें। इसके बाद देवी लक्ष्मी का विधिवत पूजन करे, ऐसे करने से आपको व्यवसाय में आश्चर्यजनक उन्नति मिलेगी।
अगर कुंडली में बृहस्पति ग्रह कमजोर है याआपको अशुभ फल दे रहा है तो इसके लिए थोड़ी केसर लेकर उसे मस्तक के बीचो-बीच में लगायें, साथ ही इसे ह्रदय के बीच में और नाभि में भी लगायें। ये उपाय आपको लगातार कम से 1 वर्ष तक करना है, इससे आपका बृहस्पति ग्रह शुभ फल देने लगता है।
यदि किसी को नींद ना आने की बीमारी है, तो उसके लिए रामबाण इलाज है केसर। अनिद्रा की शिकायत को दूर करने में भी केसर काफी उपयोगी होता है। इसके साथ ही यह अवसाद को भी दूर करने में मदद करता है। रात को सोने से पहले दूध में केसर डालकर पीने से अनिद्रा की शिकायत दूर होती है।
गुरुवार के दिन सुबह नहाने की बाल्टी में थोड़ी सी हल्दी डालकर स्नान करें, केसर का तिलक लगाएं ललाट पर शुद्ध केसर का तिलक लगाना शुभता का प्रतीक है। इससे आर्थिक पक्ष भी मज़बूत होता है। इसके बाद घर के मंदिर में अथवा केले के पेड़ के पास बैठकर धूप- दीप से पूजा करें “ऊं नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का जाप करें। भगवान विष्णु के सामने शुद्ध देसी घी का दीपक जलाएं।
अगर किसी व्यक्ति या घर पर किसी दूसरे (अंजान व्यक्ति) ने तांत्रिक क्रिया करवा रखी है तो उसे समाप्त करने के लिए केसर का ये उपाय करें। इसके लिए जावित्री, गायत्री और केसर को मिलाकर उसे कूट कर धूप बना लें और उससे 21 दिन तर घर में धूप जलाएं। इससे टोने-टोटके का असर आपके घर से खत्म हो जायेगा और घर में सुख-शांति बनी रहेगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है