×

हिमाचली अंपायर वीरेंद्र शर्मा को इतना प्यार नहीं भेजा, जितनी एक मैच के लिए लानतें-मलानतें भेज दीं

अनुराग ठाकुर के करीबी रहे हैं अंपायर वीरेंद्र, उनकी प्रेरणा से ही शुरू की अंपायरिंग

हिमाचली अंपायर वीरेंद्र शर्मा को इतना प्यार नहीं भेजा, जितनी एक मैच के लिए लानतें-मलानतें भेज दीं

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा में खेले गए चौथे टी20 मैच (India England T20 Match) में भले ही भारतीय टीम जीत गई हो, लेकिन इस मैच में अभी तक थर्ड अंपायर सुर्खियां बटोर रहे हैं। अपने फैसलों के लिए आज भी थर्ड अंपायर वीरेंद्र शर्मा (Virender Sharma) सभी के निशाने पर हैं। ट्विट (Tweet) पर तरह-तरह के हैशटैग चलाए जा रहे हैं। आपको बता दें कि वीरेंद्र शर्मा हिमाचल (Virender Sharma Himachal) से हैं। बीते रोज सूर्यकुमार यादव और वॉशिंगटन सुंदर के कैच को लेकर दिए गए फैसले के बाद से वो क्रिकेट प्रेमियों के निशाने पर हैं। #ThirdUmpireAndhaHai #thirdumpire जैसे हैशटैग इस मैच को लेकर ट्विटर पर यूजर चलाने लगे।


यह भी पढ़ें: #INDvEND टी20 : भारत ने इंग्लैंड को दिया 186 का टारगेट, सूर्यकुमार यादव चमके

आईसीसी के एलीट पैनल (ICC Elite Panel) में शामिल होने वाले वीरेंद्र शर्मा हिमाचल के पहले अंपायर हैं। जब वो आईसीसी (ICC) के एलीट पैनल में शामिल हुए थे तो उन्हें इतनी बधाईयां नहीं भेजी गई होंगी, जितनी पिछले मैच के लिए लोगों ने लानतें-मलानतें भेज दीं। आइए जानते हैं कल के मैच में क्या हुआ और हिमाचल अंपायर वीरेंद्र शर्मा के बारे में भी।

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए ये तीन खिलाड़ी टीम इंडिया में शामिल

क्या हुआ था मैच में
भारत कल के मैच में पहले बल्लेबाजी (Batting) कर रहा था। पारी के 14वें ओवर की पहली गेंद पर सैम करन को फाइन लेग पर सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने छक्का लगया। अगली गेंद पर डेविड मलान ने फाइन लेग पर ही सीमा रेखा पर उनका कैच (Catch) लपक लिया, जिसमें रीप्ले से साफ लग रहा था कि गेंद ने जमीन को छुआ है। इसके बाद वॉशिंगटन सुंदर को आउट देने के फैसले पर विवाद (Controversy) हुआ। भारतीय पारी के 19.4 ओवर में जब वॉशिंगटन सुंदर ने आर्चर की गेंद पर शॉट (Shot) मारा और ब्राउंड्री पर आदिल राशिद ने कैच पकड़ लिया। रीप्ले के दौरान साफ देखा जा सकता था कि बॉल को पकड़ते हुए राशिद का पैर बाउंड्री रोप को छू रहा था। इसके बावजूद थर्ड अंपायर ने वॉशिंगटन सुंदर (Washington Sundar) को आउट करार दे दिया।

कौन हैं थर्ड अंपायर वीरेंद्र शर्मा
चौथे टी20 मैच में जो थर्ड अंपायर वीरेंद्र शर्मा (Third Umpire Virendra Sharma) तैनात थे वो हिमाचल से हैं। वीरेंद्र शर्मा मूलत: हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के पुरली गांव के रहने वाले हैं। वीरेंद्र शर्मा का जन्म 11 सितंबर, 1971 को उनका जन्म हुआ। उन्हें कुछ साल पहले ही बीसीसीआई के एलीट पैनल और आईसीसी के पैनल में शामिल किया गया है। अंपायरिंग से पहले वीरेंद्र रणजी खिलाड़ी भी रह चुके हैं। हिमाचल की ओर से उन्होंने 50 रणजी मैच खेले हैं।

यह भी पढ़ें: सूर्यकुमार यादव को ना खिलाने पर भड़के गौतम गंभीर, बोले-वो 30 के हैं 21 के नहीं

फर्स्ट क्लास क्रिकेट (First Class Cricket) में उनके नाम दो शतक और आठ अर्धशतक दर्ज हैं। इसके अलावा वीरेंद्र शर्मा 2001 से दो साल तक रणजी टीम के कप्तान भी रह चुके हैं। वीरेंद्र शर्मा ने फर्स्ट क्लास और लिस्ट-ए मैचों में 1899 रन बनाए हैं। इसके बाद में उन्होंने अंपायरिंग को बतौर करियर अपनाया। 2007 में वीरेंद्र शर्मा ने एचपीसीए (HPCA) के प्रदेश स्तरीय अंपायर पैनल में पदार्पण किया था। फिलहाल वीरेंद्र केंद्र सरकार के लोक उपक्रम इंजीनियरिंग इंडिया लिमिटेड में कार्यरत हैं। वीरेंद्र शर्मा के मुताबिक उन्होंने 2007 में तत्कालीन एचपीसीए के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर की प्रेरणा से अंपायरिंग की शुरुआत की थी।

भारत-श्रीलंका मैच से इंटरनेशनल टी20 डेब्यू
वीरेंद्र शर्मा ने टी20 मैचों (Virender Sharma) में अंपायरिंग में अपना डेब्यू 10 जनवरी 2020 को भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए मैच में किया था। इसके एक हफ्ते बाद उन्होंने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए वनडे मैच में भी पहली बार अंपायरिंग की थी। आपको बता दें कि वीरेंद्र शर्मा ने वर्ष 2007 में बीसीसीआई अंपायरिंग एग्जाम पास किया था। इसके बाद उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वनडे अंपायरिंग से शुरुआत की।

रिव्यू सफलता दर में रहे नंबर 1
वीरेंद्र शर्मा ने दो अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैचों सहित 80 फर्स्ट क्लास मैच में अंपायरिंग की है। इसके साथ ही उन्होंने एक वनडे, दो टी-20 मैचों के अलावा आईपीएल में भी अंपायरिंग की है। वीरेंद्र शर्मा 85.71 के सक्सेस रेट के साथ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में शानदार अंपायरिंग कर चुके हैं। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के मुकाबलों में वीरेंद्र शर्मा ने देश भर में सर्वाधिक रिव्यू सफलता दर की थी। वीरेंद्र 85.71 फीसदी सफलता दर के साथ पहले स्थान पर थे, जबकि 83.87 फीसदी सफलता दर के साथ अंपायर नितिन मेनन दूसरे स्थान पर थे।

बीसीसीआई दे चुकी है बेस्ट अंपायर का अवार्ड
वीरेंद्र शर्मा को घरेलू क्रिकेट में अच्छी अंपायरिंग के लिए बीसीसीआई ने 2018-19 सत्र का बेस्ट अंपायर घोषित किया था। रोचक बात है कि साल 2016 में मुंबई और उत्तर प्रदेश के बीच खेले गए मुकाबले में जब साथी अंपायर मैच के दौरान बीमार पड़ गए थे तो मैच के दूसरे दिन वीरेंद्र ने अकेले ही दोनों छोर से अंपायरिंग की थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है