Covid-19 Update

2,16,303
मामले (हिमाचल)
2,11,008
मरीज ठीक हुए
3,628
मौत
33,339,375
मामले (भारत)
226,929,855
मामले (दुनिया)

चेहरे से झुर्रियां मिटा देगी ये आयुर्वेदिक औधषी, जरूर करें Try

चेहरे से झुर्रियां मिटा देगी ये आयुर्वेदिक औधषी, जरूर करें Try

- Advertisement -

बढ़ती उम्र के साथ चेहरे पर झुर्रियां पड़ना शुरू हो जाती हैं। इन सब के लिए महिलाएं क्या कुछ उपाय नहीं करतीं। इनके लक्षणों को कम करने के लिए मार्केट में कई तरह के प्रोडक्ट मौजूद हैं। रेटिनॉल एक एंटी एजिंग तत्व है जिसका इस्तेमाल बहुत से स्किन केयर प्रोडक्ट (Skin Care Products) में किया जाता है। लेकिन यदि आपकी स्किन संवदेनशील है तो प्रोडक्ट में मौजूद रेटिनॉल आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकता है। एजिंग के लक्षणों को कम करने के लिए बाकूचियोल को रेटिनॉल से बेहतर माना जाता है। यह बाबची पौधे की पत्तियों और बीज में पाया जाने वाला तत्व है। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट (Anti bacterial and antioxidant) पाया जाता है। आयुर्वेदिक औधषियों में इसका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है। बाकूचियोल त्वचा के लिए कई मायनों में रेटिनॉल से अधिक फायदेमंद है।

यह भी पढ़ें: सन फार्मा ने 35 रुपए प्रति टैबलेट की कीमत पर लॉन्च की Covid-19 की दवा फेविपिराविर

बाकूचियोल की खासियत यह है कि किसी अन्य प्रोडक्ट के साथ इसका इस्तेमाल करने पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। जबकि रेटिनॉल (Retinol) को कभी भी एक्सफोलिएटर या टोनर के साथ इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अन्य उत्पादों के साथ बाकूचियोल उतना ही प्रभावी होता है। इसका इस्तेमाल सीरम, मॉश्चराइजर या लोशन के साथ किया जा सकता है। रेटिनलॉल की तरह यह धूप के संपर्क में आने पर त्वचा को डैमेज (Damage) नहीं करता है, साथ ही स्किन को हमेशा यंग बनाए रखता है। हम आपको बताते हैं कि बाकूचियोल स्किन के लिए कितना फायदेमंद है …

कोलेजन बढ़ाए – बाकूचियोल त्वचा की कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता है और उन्हें हेल्दी रखता है साथ ही यह कोलेजन को बढ़ाने में मदद करता है और डैमेज से बचाता है। रेटिनॉल की अपेक्षा यह त्वचा पर काफी तेजी से काम करता है।


फाइन लाइन कम करे – यह पर्याप्त कोलेजन बनने में मदद करता है। इसके साथ ही फाइन लाइन्स और झुर्रियों सहित बढ़ती उम्र के अन्य लक्षणों को कम करता है। हालांकि, रेटिनॉल भी बाकूचियोल की तरह काम करता है, लेकिन यह स्किन को ड्राई कर देता है। जबकि बाकूचियोल का इस्तेमाल करने से त्वचा पर जलन नहीं होती है।


किसी भी समय करें यूज – त्वचा से झुर्रियां हटाने के लिए रेटिनॉल का इस्तेमाल आमतौर पर रात के समय किया जाता है। जबकि बाकूचियोल दिन में किसी भी समय यूज किया जा सकता है। यह हर तरह की त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। बाकूचियोल स्किन की अंदर से मरम्मत करता है और डैमेज होने से बचाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है