Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

बिना खाए-पिए एक पैर पर खड़े हैं यह बाबा, जानिए क्या है वजह

बिना खाए-पिए एक पैर पर खड़े हैं यह बाबा, जानिए क्या है वजह

- Advertisement -

फरीदाबाद। हरियाणा के फरीदाबाद में इन दिनों बाबा रामकेवल काफी चर्चा में हैं। वे मुख्‍य सचिवालय के सामने पिछले 22 दिन से धरने पर बैठे हैं। अन्‍न त्‍यागे हुए बाबा को पांच दिन हो चुके हैं। उनका यह धरना सामाजिक बुराई, सरकार के अत्याचारों के खिलाफ है। धरनास्थल पर एक पैर पर खड़े होकर बाबा (Baba) ने कहा कि ‘जो स्थिति मेरी है वर्तमान में वही हाल हरियाणा प्रदेश और देश का है। जो खुद डगमगा रहा हो वो मेरी बात क्या सुनेंगे, लेकिन मेरा संघर्ष जनहित के लिए जारी रहेगा।’ बाबा रामकेवल पहली बार सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ धरने पर नहीं बैठे। वह पहले भी कई बार हुक्‍मरानों को जगाने के लिए धरने का सहारा लेते रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 


सरकार को दिखा रहे आइना

बाबा रामकेवल ने कहा कि प्रदेश में इस समय महामारी से लोग परेशान हैं तो दूसरी तरफ सरकार (Government) की विफल नीतियों ने आज लोगों को बेरोजगार और बेघर कर दिया है। इसकी सच्चाई सामने लाने वाले पत्रकार, समाजसेवियों और आरटीआई एक्टिविस्टों को सरकार अपनी शक्ति का गलत उपयोग करके लोकतंत्र की आवाज को दबाने का काम कर रही है। इसे लेकर बाबा रामकेवल शुरू से सरकार को आइना दिखा रहे हैं। इसी के चलते सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया गया है।

 

 

पहले भी जीभ छेदकर मौन धारण किया था

करीब तीन साल पहले, फरीदाबाद नगर निगम में भ्रष्‍टाचार को खत्‍म करने के लिए बाबा ने अनशन किया था। तब निगम के बाहर सत्‍याग्रह और आमरण अनशन पर बैठे बाबा रामकेवल ने सुए से अपनी जीभ छेदकर मौन धारण किया था। उससे पहले, उन्‍होंने चेतावनी दी थी कि ये सुआ तब तक नहीं निकलेगा तब तक करप्‍शन की जांच के लिए एसआईटी गठित नहीं हो जाती।
तब हरियाणा के उद्योग और वाणिज्‍य मंत्री विपुल जैन ने पहुंचकर बाबा का अनशन तुड़वाया था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है