×

त्योहारों में नकली खोया खाने से हो सकती हैं ये बीमारियां, ऐसे करें नकली खोये की पहचान

त्योहारों में नकली खोया खाने से हो सकती हैं ये बीमारियां, ऐसे करें नकली खोये की पहचान

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिवाली (Diwali) आने ही वाली है और इस दिन लोगों के घरों में कई तरह की मिठाइयां (Sweets) बनती हैं। ऐसे में कुछ लोग बाजार से खोया (Mawa) खरीदते हैं लेकिन आपको बता दें कि बाजार में आपको प्रॉफिट कमाने के चक्कर में कई बार नकली खोया भी बेच दिया जाता है। जो आपको कई तरह से बीमार कर सकता है। नकली मावे से बनी मिठाई खाने से आप फूड पॉइजनिंग, उल्टी, पेट दर्द की समस्या से जूझ सकते हैं। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस तरह से आप बाजार में मिलने वाले असली और नकली खोये की पहचान कर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रख सकते हैं।


इन तरीकों से पता लगाएं खोया नकली तो नहीं ?

खोये के जरा से टुकड़े को हाथ के अंगूठे पर थोड़ी देर के लिए रगड़ें। इसमें मौजूद घी की महक अगर देर तक अंगूठे पर टिकी रही तो समझ लीजिए मावा शुद्ध है।

हथेली पर मावे की एक गोली बनाएं और उसे देर तक दोनों हथेलियों के बीच घूमाते रहें। अगर ये गोली फटने लगे तो समझिए मावा नकली है।

गर्म पानी में करीब 3 ग्राम खोया डालें। थोड़ी देर ठंडा होने के बाद इसमें आयोडीन सोलूशन डालें। आप देखेंगे कि नकली खोए का रंग धीरे-धीरे नीला पड़ने लगेगा।

खाकर भी असली-नकली मावे को पहचान कर सकते हैं। अगर मावे में चिपचिपाहट महसूस हो रही है तो समझ जाइए कि वो खराब हो चुका है। असली मावा खाने पर कच्चे दूध जैसे स्वाद आएगा।

पानी में मावा डालकर फेंटने पर अगर वह छोटे-छोटे टुकड़ों में टूटता है तो ये खराब है। दो दिन से ज्यादा पुराना मावा खरीदने से बचें क्योंकि ये आपको बीमार कर सकता है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है