सर्दियों में ऐसे बढ़ाएं शरीर की प्रतिरोधक क्षमता

सर्दियों में ऐसे बढ़ाएं शरीर की प्रतिरोधक क्षमता

- Advertisement -

सर्दियों में प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखना बहुत जरूरी होता है। ऐसा कई बार होता है कि आप भीतर से तो बिलकुल स्वस्थ महसूस कर रहे होते हैं लेकिन थकान के कारण आपकी पूरी शक्ति खत्म हो जाती है। आयुर्वेद के अनुसार यदि आपकी प्रतिरोधक क्षमता कम है तो आपके शरीर में जहरीले पदार्थ बढ़ने की संभावना अधिक हो जाती है इसलिए जरूरी है कि आप इसके लिए कुछ जरूरी कदम उठाएं।

यह भी पढ़ें : सर्दियों में मार्निंग वॉक करने से पहले बरतें ये सावधानियां

 

आयुर्वेद में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी है सही खान-पान। आयुर्वेद में प्रतिरोधक क्षमता को ‘ओजस’ कहा जाता है और यह हमारे शरीर की रक्षा करने के लिए बहुत ही आवश्यक माना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार सर्दियां आपके शरीर को तंदरुस्त बनाने के लिए सबसे अच्छा समय है। शरीर के बेहतर मेटाबोलिज्म और आयु बढ़ाने के लिए आयुर्वेद सबसे बेहतरीन तरीका है। जीर्णोद्धार करने वाली आयुर्वेदिक में अश्वगंधा, आवंला, तुलसी, त्रिफला जैसी बूटियां होती हैं। इनको चवनप्राश अथवा चाय के रूप में लिया जा सकता है। इन बूटियों से शरीर में एंटीबॉडी बनती हैं जिससे आपका प्रतिरोध तंत्र मजबूत होता है।

एक और तरीका सुबह गुनगुने पानी से स्नान है। इस पानी में आप चाहें तो सुगंधित तेल जैसे चमेली, गुलाब या तुलसी का तेल इत्यादि डाल सकते हैं। नहाने से पहले गुनगुने तेल से अपनी मालिश करने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। सूरजमुखी, तिल अथवा सरसों के तेल से सुबह मालिश करने से मासपेशियां मजबूत होती हैं साथ ही खून का संचार भी बढ़ता है। भोजन में हमेशा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले मसालों जीरा, हल्दी, धनिया, अदरक और काली मिर्च का प्रयोग करने चाहिए।

इनसे आप साधारण सर्दी-जुखाम और कीटाणुओं से होने वाली बीमारियों से बच सकते हैं। हल्का और गरम भोजन सर्दियों में आपके पाचन तंत्र और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी है। गरम भोजन कीटाणुओं से लड़ने में मदद करता है। सर्दियों में ठंडा भोजन आपके पाचन जूस को कम करता है जिससे पेट में कीटाणु पनपने की संभावना होती है। डिब्बा बंद और तले भोजन से परहेज जरूरी है। भरपूर नींद को स्वास्थ के लिए बहुत आवश्यक बताया गया है। सर्दियों में खूब सारी नींद लेना आपको कीटाणुओं से लड़ने में मदद करता है और आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है