Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

20 रुपए महीने की सैलरी पर 36 साल से काम करती है ये महिला, जानें क्यों ?

20 रुपए महीने की सैलरी पर 36 साल से काम करती है ये महिला, जानें क्यों ?

- Advertisement -

श्रीनगर। क्या आप ऐसा सोच सकते हैं कि आज के समय में भला कोई बीस रुपये महीने की तनख्वाह में भी काम कर सकता है। हमें यकीन है कि आपका जवाब नहीं में ही होगा। लेकिन असल में ऐसा नहीं है। यहां पर एक सरकारी स्कूल में एक बुजुर्ग महिला 71 साल की एक उम्र में बतौर स्वीपर काम करती हैं। इस काम के बदले इस महिला को सैलरी के तौर पर महज 20 रूपये महीने का भुगतान स्कूल में 36 सालों से किया जा रहा है।


साल 1982 में इस बुजुर्ग महिला की नियुक्ति ज़िले के गार्ड हांजी गांव के एक सरकारी प्राइमरी स्कूल में बतौर स्वीपर की गई थी। महिला ने अपना दर्द बयान करते हुए बताया कि, ‘जब उनकी नियुक्ति हुई थी तो उन्हें एक रुपया मिलता था, फिर बाद में एक से पांच रुपये मिलने लगा और फिर दस और अब बीस रुपया मिलता है।’ महिला का कहना है कि इन्हीं पैसे से उन्हें स्कूल के लिए झाड़ू भी खरीदना पड़ता है। स्कूल ताज बेगम को जो पैसा देता है, वो उन्हें नकद दिया जाता है।

बीते 36 सालों से इसी सरकारी प्राइमरी स्कूल में काम कर रही ताजा बेगम की बहाली चिट्ठी में लिखा हुआ आया कि वो ‘कंटीजेंट पेड वर्कर’ के रूप में बहाल हुई हैं। जिसके कारण उन्हें स्कूल लोकल फ़ंड से हर महीने दस रुपया दिया जाता है। जिसपर उनका कहना है कि, ‘मैंने पूरी ज़िंदगी स्कूल की गर्द खाई है। अब बीमार रहने लगी हूं। खांसी की मरीज़ हूं। दुनिया कितनी बदल गई, लेकिन मेरी क़िस्मत आजतक नहीं बदली। मुझे आज भी वही 20 रुपया मिलता है। जब मैंने स्कूल में स्वीपर का काम शुरू किया था तो मुझे केवल एक रुपये तनख्वाह मिलती थी।’

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है