Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,655,824
मामले (भारत)
198,557,259
मामले (दुनिया)
×

ग्रीन कॉरिडोर बनाया AIIMS पहुंचाया Lever, तीन जिंदगियां बचार्इ

ग्रीन कॉरिडोर बनाया AIIMS पहुंचाया Lever, तीन जिंदगियां बचार्इ

- Advertisement -

Three life: चंडीगढ़। अंग दान-महा दान। जी हां हमारे देश में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो मर कर भी दूसरों को नई जिंदगी की सौगात दे जाते हैं और हमेशा को लिए अमर हो जाते हैं। ऐसी ही एक मिसाल हैं पंजाब के नांगल के रहने वाले 55 वर्षीय रशपाल। रशपाल की मौत के बाद उनके परिजनों की सहमति से उनके लीवर को दिल्ली एम्स में एक जरूरतमंद मरीज तक पहुंचाया और मरीज की जान बचार्इ। इसके लिए पीजीआइ, पुलिस विभाग और एयरपोर्ट अथॉरिटीज ने संयुक्त प्लानिंग की और तीनों ने मिलकर ग्रीन कॉरिडोर बनाया।

Three life: अंगदान में लीवर के अलावा दो किडनियां भी दी

रशपाल एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल हो गए थे और उन्हें पीजीआइ में लाया गया। अगले दिन उनके ब्रेन को डेड घोषित कर दिया गया था। रशपाल के अंगदान में लीवर के अलावा दो किडनियां भी दी हैं।  पीजीआइ, पुलिस विभाग और एयरपोर्ट अथॉरिटीज ने संयुक्त प्लानिंग करके पीजीआइ से एयरपोर्ट तक के 45 मिनट के रास्ते को केवल 28 मिनट में तय किया गया और लीवर को दिल्ली एम्स तक पहुंचाया। पीजीआइ में इलाज करवा रहे दो जरूरतमंद मरीजों को किडनियां देकर उन्हें नई जिंदगी दी।  रशपाल की पत्नी सुलोचना और बेटे ललित ने कहा कि कई जिंदगियां बचाकर उनको वास्तव में सुकून मिला है।


पीजीआइ निदेशक ने कहा कि पीड़ित परिवार के दुख की कल्पना नहीं की जा सकती, लेकिन इस घड़ी में भी अंगदान की सहमति देकर तीन को जिंदगी देने बड़ी समाज सेवा की है।

यह भी पढ़ें – 9 साल के बच्चे को Mobile न मिला तो काट ली बाजू

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है