Covid-19 Update

1,98,010
मामले (हिमाचल)
1,89,469
मरीज ठीक हुए
3,358
मौत
29,359,155
मामले (भारत)
176,047,505
मामले (दुनिया)
×

डीएसपी गुरबचन सिंह सहित तीन पुलिस अधिकारियों को मिलेगा राष्ट्रपति पुलिस पदक अवार्ड

डीएसपी गुरबचन सिंह सहित तीन पुलिस अधिकारियों को मिलेगा राष्ट्रपति पुलिस पदक अवार्ड

- Advertisement -

सुंदरनगर/गोहर। मंडी जिला के सुंदरनगर पुलिस (Sunder Nagar) में बतौर एसएचओ (SHO) तैनात इंस्पेक्टर गुरबचन सिंह रणौत को डीएसपी (DSP) पदोन्नति के बाद एक और तोहफा मिला है। जानकारी के अनुसार डीएसपी गुरबचन सिंह रणौत को भारत सरकार के गृह विभाग द्वारा इस वर्ष 15 अगस्त के मौके पर राष्ट्रपति पुलिस पदक से नवाजा जाएगा। वहीं, गृह विभाग द्वारा प्रदेश पुलिस के अन्य दो अधिकारियों बहादुर सिंह व मनोज कुमार को भी राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया जाएगा।


यह भी पढ़ें: पुलिस भर्ती फर्जीवाड़ाः एक और आरोपी गिरफ्तार, आरोपियों की संख्या पहुंची 19

 


डीएसपी गुरबचन सिंह रणौत को यह सम्मान उनके द्वारा पुलिस सेवा के दौरान उत्कृष्ठ कार्यों को लेकर दिया गया है। डीएसपी (DSP) गुरबचन सिंह रणौत पुलिस विभाग में प्रत्येक ट्रेनिंग के दौरान हमेशा अव्वल ही रहे। गुरबचन सिंह अखिल भारतीय स्तर की पुलिस ट्रेनिंग में देश के अन्य राज्यों से आए हुए पुलिस अधिकारियों को पछाड़ कर प्रथम स्थान भी पा चुके हैं। गुरबचन सिंह रणौत ने कहा कि उनका जन्म गांव ठडोह डाकघर भटवाड़ा तहसील घुमारवीं जिला बिलासपुर में हुआ था। उन्होंने कहा कि उनके पिता का नाम गुरदीप सिंह व माता प्रयाग देवी थे। उन्होंने कहा कि उनके पिता वर्ष 1966 में भारतीय सेना से बतौर सूबेदार सेवानिवृत्त हुए थे। गुरबचन सिंह ने कहा कि पुलिस (Police) विभाग की विभिन्न ट्रेनिंग के दौरान हमेशा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग में सेवाएं देने के साथ-साथ अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाते हुए स्नातक की डिग्री प्राप्त की।

 

वहीं, मनोज वालिया आजकल मंडी एसआईटी के इंचार्ज हैं। फेक करंसी के आरोपियों को दबोचने, मर्डर मिस्ट्री सुलझाने, ऊना में करोड़ों की फेक करंसी पकड़ने, समेत चोरी और डकैती के अनेक मामलों को सुलझाने और पुलिस महकमे में बेहतर सेवाएं देने के लिए गृह मंत्रालय ने मनोज कुमार वालिया का चयन किया है। मनोज वालिया ने नवंबर 1988 में पुलिस विभाग में नौकरी शुरू की। वालिया ने दसवीं की शिक्षा हाई स्कूल टंग नरवाना से की। कांगड़ा के योल कैंप के नजदीक बलेहड़ गांव से मनोज वालिया संबंध रखते हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है