×

Tibetan Women’s Association ने चीन से पूछा, कहां है पंचेन लामा

Tibetan Women’s Association ने चीन से पूछा, कहां है पंचेन लामा

- Advertisement -

चीन के खिलाफ मैक्लोडगंज से कचहरी अड्डा तक निकाली  रैली

Rally: धर्मशाला। तिब्बत के 11वें पंचेन लामा की तलाश को लेकर एक बार फिर Tibetan Women’s Association (सेंट्रल) ने आवाज बुलंद की है। धर्मशाला में रैली निकाल तिब्बतियन वुमन एसोसिएशन का कहना है कि पंचेन लामा गेदेन छुएकी नीमा कहां है, इसका जवाब मात्र चीन दे सकता है, क्योंकि 17 मई, 1995 को चीन द्वारा पंचेन लामा का अपहरण कर लिया गया था।


Rally: 11वें पंचेनलामा की रिहाई को उठाई आवाज, ड्रैगन पर दागे कई सवाल

बहरहाल, बुधवार को 11वें पंचेन लामा की 22वीं वर्षगांठ पर एसोसिएशन ने मैक्लोडगंज मुख्य चौक से कचहरी अड्डा तक रैली निकालते हुए चीन के खिलाफ नारेबाजी की। एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि अपहरण के बाद से अब तक चीन सरकार ने पंचेन लामा के बारे में कोई भी जानकारी सार्वजनिक नहीं की है। हालांकि चीन दावा करता है कि पंचेन लामा स्वस्थ्य जीवन व्यतीत कर रहे हैं और उन्हें सुरक्षित गुप्त तरीके से रखा गया है। चीन का यह तर्क है कि पंचेन लामा की सुरक्षा को विभाजनकारी ताकतों से खतरा है।

विभिन्न तिब्बती संगठनों द्वारा पंचेन लामा की ताजा तस्वीरें जारी करने का आग्रह भी चीन से किया गया, लेकिन चीन ने इससे साफ इंकार कर दिया। एसोसिएशन ने आरोप लगाया कि चीन की मंशा दलाईलामा के प्रभाव को कम करना है, जिसका कि चीन राजनीतिक लाभ ले सके। तिब्बतियन वुमन एसोसिएशन का आरोप है कि पंचेन लामा गेदेन छुएकी नीमा का आज दिन तक न तो कोई सुराग लग सका है और न ही चीन उनके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध करवा सका है।

आरोपः ग्यालत्सेन नोरबू को असली पंचेन लामा बनाने की साजिश

चीन सरकार ग्यालत्सेन नोरबू को असली पंचेन लामा के रूप में स्थापित और प्रचारित कर रही है। तिब्बती समुदाय नोरबू को सिर्फ चीन का षडयंत्र और फरेबी पंचेन लामा मानता है। एसोसिएशन ने चीन से मांग की है कि 11वें पंचेन लामा सुरक्षित और जीवित हैं, इसके सबूत सार्वजनिक करे। 28 वर्ष के हो चुके पंचेन लामा का चित्र भी सार्वजनिक किया जाए।

संयुक्त राष्ट्र के माध्यम से एक स्वतंत्र दल को उनसे मिलने की अनुमति प्रदान की जाए। पंचेन लामा व उनके परिवार को बिना किसी शर्त के यथाशीघ्र रिहा किया जाए। तशी लुंडपो मठ के मठाधिकारी रहे चाडरेल रिंपोछे जिनकी अगुवाई में पंचेन लामा के पुनर्वतार खोज अभियान चला था, उनके सकुशल होने की जानकारी भी चीन जारी करे। एसोसिएशन ने 11वें पंचेन लामा की खोज व रिहाई के प्रयास लगातार जारी रखने की प्रतिबद्धता दोहराते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ, मानवाधिकार आयोग, विश्व नेतृत्व और तिब्बती समर्थकों से इस बारे में चीन सरकार पर दबाव बनाने का आग्रह किया है।

हैरतः Cancer के नाम पर छात्रों से करवाई जा रही धन उगाही

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है