Covid-19 Update

20,817
मामले (हिमाचल)
17,978
मरीज ठीक हुए
293
मौत
7,974,963
मामले (भारत)
44,017,937
मामले (दुनिया)

कारगिल दिवस विशेष: जन्मदिन पर आने का किया था वादा, टुकड़ों में पहुंची थी ‘कालिया’ की पार्थिव देह

कारगिल दिवस विशेष: जन्मदिन पर आने का किया था वादा, टुकड़ों में पहुंची थी  ‘कालिया’ की पार्थिव देह

- Advertisement -

हर साल 26 जुलाई भारत वर्ष में कारगिल  विजय दिवस (Kargil Vijay Divas) के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन भारतीय सेना को दो महीने से भी ज्यादा लंबे चले युद्ध में जीत हासिल हुई थी, लेकिन इस युद्ध में भारत माता के कई लाल शहीद हुए थे। शहीद हुए इन जवानों में 52 जवान हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के भी शामिल थे। इनमें से ही एक हैं हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला स्थित पालमपुर के शहीद सौरभ कालिया (Saurabh Kalia)। सौरभ कालिया बचपन से ही बहुत शरारती हुआ करते थे। जब वह युद्द के लिए आने वाले थे उस दौरान उन्होंने अपने जन्मदिन पर आने का वादा किया था वो तो नहीं आ सके लेकिन उनका पार्थिव शरीर टुकड़ों में उनके घर पहुंचाया गया था।

यह भी पढ़ें- इंडियन नेवी में 10वीं पास के लिए 400 पदों पर भर्ती, यहां करें आवेदन

कैप्टन सौरभ कालिया के माता-पिता ने अपने बेटे की याद में आज दिन तक उनके हस्ताक्षर वाला एक चेक संभाल कर रखा हुआ है। ड्यूटी पर जाने से पहले ही उन्होंने ब्लेंक चेक पर हस्ताक्षर करके मां-बाप को सौंपा था। उनके पिता ने बताया कि बेटे से उन्होंने 30 मई 1999 को आखिरी बार बात की थी। उस दिन उसके छोटे भाई का जन्मदिन थे इसी दिन बेटे ने वादा किया था कि वह 29 जून को अपने जन्मदिन पर जरूर आएगा। कारगिल युद्ध में कांगड़ा जिले के सबसे अधिक 15 जवान शहीद हुए थे। जबकि, मंडी जिले से 11, हमीरपुर के सात, बिलासपुर के सात, शिमला से चार, ऊना से दो, सोलन और सिरमौर से दो-दो जबकि चंबा और कुल्लू जिले से एक-एक जवान शहीद हुआ था।

सौरभ की मां विजय के मुताबिक़, ‘सौरभ रसोई में आया और हस्ताक्षर किया हुआ लेकिन बिना रकम भरे एक चेक मुझे सौंपा और मुझे उसके बैंक खाते से रुपए निकालने को कहा क्योंकि वह फील्ड में जा रहा था।’ उन्होंने कहा ये मेरे शरारती बेटे की आखिरी निशाने मेरे पास है। उनके कमरे को आज एक संग्रहालय के रूप में रखा गया है। यहां सिर्फ उन्हीं की ही चीजें हैं। बता दें उन्हें शहादत के बाद लेफ्टिनेंट से कैप्टन के रूप में पदोन्नति दी गई। सौरभ ‘4- जाट रेजीमेंट’ से थे। वह पांच सैनिकों के साथ जून 1999 के पहले हफ्ते में कारगिल के कोकसर में एक टोही मिशन पर गए थे। लेकिन यह टीम लापता हो गई और उनकी गुमशुदगी की पहली खबर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अस्कार्दू रेडियो पर आई थी।

सौरभ और उनकी टीम (सिपाही अर्जुन राम, बंवर लाल, भीखाराम, मूला राम और नरेश सिंह) के लोगों के टुकड़ों में भारत को सौंपें गए थे। उनकी आंखें फोड़ दी गई थी और उनके नाक, कान तथा जननांग काट दिए गए थे। सौरभ के भाई अपने भाई की शहादत के समय केवल 20 साल के थे शहीद भाई को मुखाग्नि दी थी। अब वह हिप्र कृषि विश्वविद्यालय में सहायक प्राध्यापक हैं। वह कहते हैं कि सौरभ उन्हें मां-पापा की डांट से मुझे बचाया करता था। हम अपने घर के अंदर क्रिकेट खेला करते थे और कई बार उसने मेरे द्वारा खिड़कियों की कांच तोड़े जाने की जिम्मेदारी अपने सिर ले ली।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

#BJP अध्यक्ष बोले- हिमाचल में तीसरे दल का कोई अस्तित्व नहीं, राजन सुशांत महत्वाकांक्षी

मौसम: लाहुल घाटी में ताजा #Snowfall, रोहतांग, बारालाचा, और कुंजम दर्रा में चार से पांच सेमी बर्फबारी

#Panchayat_Election: आयोग ने बैलेट पेपर की छपाई का दिया Order, छपेंगे सवा तीन करोड़ पेपर

वीरेंद्र कंवर बोले: सराहनीय कार्यों के लिए पंचायतों को मिलेंगे #Award, 15 नवंबर तक करें आवेदन

Mandi में सियासत गरमाई, Kaul की बेटी और पूर्व जिलाध्यक्ष ने Congress टिकट को जताई दावेदारी

Cabinet: श्रीनगर में शहीद जवान की बहन को मिलेगी नौकरी, JOA पद पर होगी तैनाती

#HPSSC: कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों को किया है आवेदन तो पढ़ें यह खबर

Jairam Cabinet: भरे जाएंगे कांस्टेबल के 1334 पद; SMC शिक्षकों को भी राहत, जानें

#Cabinet Breaking: तीन नए नगर निगम और 6 नई नगर पंचायत बनाने का हुआ ऐलान

सरकार ने नहीं ली सुध, करुणामूलक संघ का आमरण अनशन शुरू- दी यह चेतावनी

बिहार में सत्ता के अहंकार में डूबी सरकार की ना करनी अच्छी है, ना कथनी: सोनिया गांधी

पतलीकूहल में Parapit से टकराकर सड़क पर गिरी Bike, एक की मौत, दूसरा गंभीर

#Viral_Video : रामलीला के बीच में बजने लगा पंजाबी गाना तो रावण ने शुरू कर दिया भांगड़ा

61 वर्षीय शख्स ने 453 पियर्सिंग करवाकर बनाया रिकॉर्ड, पूरे शरीर में बनाए टैटू, सिर पर लगाए सींग

370 हटने के बाद लद्दाख का पहला चुनाव: BJP ने मारी बाजी, 26 में से 15 सीटों पर जमाया कब्जा

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है