Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

Snowfall के बाद खिली धूप, पर्यटक स्थलों पर सैलानियों का उमड़ा सैलाब

Snowfall के बाद खिली धूप, पर्यटक स्थलों पर सैलानियों का उमड़ा सैलाब

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश मे पिछले दो दिनों में हुई भारी बर्फबारी (Snowfall) के बाद गुरुवार सुबह से ही धूप खिल उठी। धूप खिलते ही पहाड़ों पर पड़ी बर्फ शीशे की तरह चमक उठी। वहीं पर्यटन स्‍थलों (Tourist Spots) पर भी हजारों की संख्या में सैलानी उमड़ आए। मनाली, शिमला, डलहौजी व धर्मशाला के पर्यटन स्‍थलों में पर्यटकों की भरमार लग गई। हालांकि ऊंचाई वाले स्‍थानों पर लोगों का जनजीवन बर्फबारी से अभी तक भी पटरी पर नहीं लौटा है।

यह भी पढ़ें: चंबा: Pension की आस लिए दुनिया छोड़ गई स्वतंत्रता सेनानी की 116 वर्षीय विधवा

प्रदेश में अभी भी 4 एनएच सहित 429 सड़कों पर यातायात पूरी तरह से बंद हैं। बिजली-पानी का संकट कई क्षेत्रों में अभी भी बरकरार है। वहीं बर्फबारी के बाद अब ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हिमखंड गिरने का खतरा बन गया है। गुरुवार को राजधानी शिमला (Shimla) में मौसम खुलते ही पर्यटक होटलों से बाहर निकल पड़े। जिससे रिज सहित अन्य पर्यटक स्थलों पर पर्यटकों की भारी भीड़ लग गई। इस दौरान पर्यटकों ने बर्फ के बीच खूब मस्ती भी की। पर्यटनस्थल कुफ़री में बर्फ का आनंद लेने पहुंचे पर्यटकों के वाहनों से लंबा जाम लग गया।

इसी तरह से मनाली में धूप खिलने के बाद सोलंगनाला में साहसिक खेलों की धूम मच गई है। मनाली (Manali) के पर्यटन स्‍थल नेहरूकुंड में ब्‍यास नदी किनारे पर्यटकों की भरमार लग गई। मनाली के कोठी व सोलांग गांव के ग्रामीणों की भी दिक्कत बढ़ी है। बता दें कि मनाली के समस्त पर्यटन स्थल रोहतांग, राहनीनाला, मढ़ी, ब्यासनाला, राहला फाल, गुलाबा, फातरु, कोठी, सोलंगनाला, अंजनी महादेव और पलचान में भारी बर्फ़बारी हुई है।

रोहतांग तो सैलानियों के लिए गर्मियों में ही खुलेगा। लेकिन सैलानी नजदीक के पर्यटन स्थल सोलंगनाला, फातरु, अंजनी महादेव, हामटा व नेहरूकुंड में बर्फ का खूब आनंद ले रहे हैं। वहीं बर्फबारी से लाहुल-स्‍पीति के लोगों का जनजीवन बुरी तरह अस्‍त व्‍यस्‍त हो गया है। घाटी के समस्त गांव के लोग बर्फबारी के बाद घरों में कैद हो कर रह गए हैं।

लाहुल की समस्त घाटी भारी हिमपात के कारण बर्फ से ढक गई है। लेकिन कोकसर सिस्‍सू, दारचा जिस्पा, कारदंग प्यूकर, चौखंग नेन्गाहर और मायड़ घाटी के ग्रामीणों की दिक्कत अधिक बढ़ी है। यहां 3 फीट से अधिक बर्फ की मोटी परत जमा हो गई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने पांच फरवरी तक मध्य पर्वतीय और मैदानी क्षेत्रों में मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान जताया है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शुक्रवार और चार फरवरी को बर्फबारी के आसार हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है