Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

पठानकोट-जोगिंद्रनगर रेलमार्ग पर आज से दौड़ी ट्रेन, सात लोगों ने किया सफर

मार्च माह से तीन अन्य ट्रेन चलाने की है योजना

पठानकोट-जोगिंद्रनगर रेलमार्ग पर आज से दौड़ी ट्रेन, सात लोगों ने किया सफर

- Advertisement -

नगरोटा सूरियां। कोरोना महामारी के चलते लंबे समय से बंद पड़े पठानकोट-जोगिंद्रनगर रेलमार्ग (Pathankot-Jogendranagar rail track) पर आज से रेलगाड़ी चलनी शुरू हो गई है। इससे पहले बीते रोज रेलवे ने रेल ट्रैक का ट्रायल किया था, जोकि सफल रहा था। अब हिमाचल के लोग पठानकोट से जोगिंद्रनगर रेल में सफर कर सकेंगे। आज पहले दिन इस रेलगाड़ी ने सात सवारियों (Seven Passengers) के साथ पठानकोट से अपना सफर शुरू किया। इस ट्रेन में चार डिब्‍बे हैं और 176 सवारियां इसमें बैठक सकती हैं। रेलवे मंडल फिरोजपुर मार्च माह से तीन अन्य ट्रेनें भी इसी रूट पर चलाने की योजना बना रहा है। मंडल रेलवे फिरोजपुर (Mandal Railway Firozpur) के डीआरएम राजेश अग्रवाल के अनुसार रेलवे ने कोविड-19 (Covid-19) के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था के साथ 22 फरवरी से एक पेयर रेलगाड़ी चलाने को मंजूरी दे दी है और यह रेलगाड़ी पठानकोट से सुबह दस बजकर दस मिनट पर चलकर शाम सात बजकर 55 मिनट पर जोगिंद्रनगर पहुंचेगी और यही रेलगाड़ी दूसरे दिन सुबह सात बजकर पांच मिनट पर जोगिंद्रनगर से चलकर शाम पांच बजकर पांच मिनट पर पठानकोट पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें: Kangra: भाई को श्राद्ध का खाना लेकर जा रहे युवक को कार ने मारी टक्कर- गई जान

उन्होंने बताया कि आज पहले दिन पठानकोट से सात सवारियों के साथ ट्रेन ने सफर शुरू किया है। उन्होंने बताया कि चार डिब्‍बों की ट्रेन में 176 सवारियों की क्षमता है। एक डिब्‍बे में 44 सवारियां बैठ सकती हैं। पठानकोट से जोगिंद्रनगर के बीच 32 रेलवे स्टेशन पड़ते हैं। बता दें कि पिछले साल कोविड-19 के तहत लॉकडाउन (Lockdown) लगने के कारण रेलवे ने सभी ट्रेनें बंद कर दी थीं। पठानकोट-जोगिंद्रनगर रेलमार्ग पर उस समय सात अप व सात डाउन रेलगाड़ियां चलती थीं। हालांकि दिसंबर में रेलवे बोर्ड ने देश में ट्रेनें चलानी शुरू कर दी थीं, लेकिन कांगड़ा जिला में पठानकोट से जोगिंद्रनगर रेलमार्ग पर चलने वाली रेलगाड़ियां बहाल नहीं कीए, जबकि हिमाचल में कालका शिमला रेलमार्ग पर चार ट्रेनें बहाल कर दीं। सांसद रामस्वरूप ने लोकसभा में भी पठानकोट-जोगिंद्रनगर रेलमार्ग पर ट्रेनों की बहाली का मामला उठाया था, जिसके बाद रेल मंत्रालय ने कोविड नियमों के अनुसार रेलगाड़ी चलाने की मंजूरी दी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है