Covid-19 Update

59,032
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
116,748,718
मामले (भारत)
11,192,088
मामले (दुनिया)

[email protected] केंद्र से वर्कशाप के लिए 63 करोड़ मिलने थे पर नहीं मिले

Bali@ केंद्र से वर्कशाप के लिए 63 करोड़ मिलने थे पर नहीं मिले

- Advertisement -

Transport Minister GS Bali : शिमला। परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा है कि केंद्र से वर्कशाप के लिए 63 करोड़ रुपए मिलने थे, लेकिन वे अभी तक नहीं मिले। उन्होंने विपक्षी बीजेपी सदस्यों से कहा कि वे राज्य को यह पैसा दिला दे और इसके लिए वे भी उनके साथ जाने को तैयार हैं। विधानसभा में आज प्रश्नकाल के दौरान परिवहन मंत्री ने कहा कि हिमाचल में बसों का बेड़ा बढ़कर 3 हजार से ऊपर हो गया है।  बीजेपी सदस्य डॉ. राजीव बिंदल और बलदेव सिंह तोमर और कृष्ण लाल ठाकुर के संयुक्त प्रश्न पर परिवहन मंत्री ने कहा कि जेएनयूआरएम के तहत प्रदेश में 791 बसों को खरीदा गया है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में केंद्र सरकार से जेएनएनयूआरएम स्कीम के तहत बसों की खरीद के लिए 163.68 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त हुई है।

  • हिमाचल में एचआरटीसी की बसों का बेड़ा हुआ 3000 से अधिक

उन्होंने कहा कि केंद्र की यूपीए सरकार ने वर्ष 2013 में 791 बसें मंजूर की थी। इसके अलावा इसमें 63 करोड़ रुपये का वर्कशॉप का प्रोजेक्ट भी था।  बाली ने कहा कि यह प्रोजेक्ट 200 करोड़ रुपये का था। उन्होंने कहा कि केंद्र ने 63 करोड़ रुपये का वर्कशॉप का प्रोजेक्ट समाप्त कर दिया है। उन्होंने विपक्ष से इसे बहाल करने में सहयोग करने को कहा। परिवहन मंत्री ने कहा कि 791 बसों में से रामपुर यूनिट को 34, रोहड़ू को 25, ग्रामीण को 20, लोकल को 47, तारादेवी को 15, सोलन को 17, नाहन को 20, मण्डी को 50, कुल्लू को 38, सरकाघाट को 29, सुंदरनगर को 34, धर्मशाला को 38, चंबा को 50, पालमपुर को 35, बैजनाथ को 27, पठानकोट को 43, हमीरपुर को 52, देहरा को 33, ऊना को 45, बिलासपुर व नालागढ़ को 37-37, परवाणू को 13, नगरोटा बगवां को 41 और करसोग डिपो को 11 बसें आवंटित की गई हैं। उन्होंने कहा कि अधिकांश बसें चल रही हैं। उन्होंने कहा कि चालकों की भर्ती की प्रक्रिया चल रही है और कंडक्टरों की भर्ती का मामला कोर्ट में हैं।

डॉ. बिंदल ने उठाया बिना पेमेंट के 4 करोड़ की शराब देने का मामला
बीजेपी सदस्य डॉ. राजीव बिंदल ने आज विधानसभा में बिना बिल जारी किए शराब बेचने का मामला उठाया। प्रश्नकाल के बाद उन्होंने प्वाइंट आफ आर्डर के तहत मामला उठाया कि प्रदेश ब्रीवरेज कारपोरेशन ने बद्दी स्थित अपने डिपो से बिना पेमेंट लिए 4 करोड़ रुपये की शराब ठेकेदारों को सप्लाई की है। डॉ. बिंदल ने कहा कि निगम ने बिना पैसे लिए ही इतनी भारीभरकम की शराब चुनिंदा ठेकेदारों को सप्लाई कर दी। उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है और इसकी जांच होनी चाहिए। उनका कहना था कि शराब बेचने को सरकारी निगम बनाने के बाद यह बड़ा मामला सामने आया है और उनकी सूचना के मुताबिक 4 करोड़ रुपये की शराब ठेकेदारों को सप्लाई की गई है। उन्होंने इस सारे प्रकरण की जांच की मांग की और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।  इस पर आबकारी व कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी ने कहा कि उनके ध्यान में आज ही यह मामला आया है और सदस्य ने उनके ध्यान में इसे लाया है। उन्होंने कहा कि वे इसकी जांच करवाएंगे और यदि यह जानकारी सही पाई गई तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है