Expand

अनसुलझी पहेलीः आखिर कौन काट गया पेड़

अनसुलझी पहेलीः आखिर कौन काट गया पेड़

- Advertisement -

दयाराम कश्यप/ सोलन। सोलन में पेड़ काटने का मामला उलझता नजर आ रहा है। इस मामले में एक अपार्टमेंट मालिक व विद्युत विभाग आमने-सामने आ गए हैं। अपार्टमेंट मालिक का कहना है कि पेड़ ट्रांसफार्मर लगाने के लिए विद्युत विभाग ने काटे हैं, लेकिन विद्युत विभाग की माने तो ऐसा कोई ट्रांसफार्मर नहीं लगना है, जिसके लिए पेड़ काटे गए हैं। अब सवाल यह है कि आखिर पेड़ किसने काटे हैं और किसकी अनुमति से काटे गए हैं। पर यह तो जरूर है कि पेड़ तो कटे हैं। पेड़ काटे जाने के मामले की शिकायत उपायुक्त सहित नगर परिषद को भी की गई है। वहीं नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी बीआर नेगी का कहना है कि जांच के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं।

img-20160923-wa0020 सोलन के देहुघाट में बने एक अपार्टमेंट के ठीक नीचे पेड़ काटे गए, जिसकी तस्वीर एक आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा कैमरे में कैद करने के उपरांत इसकी शिकायत उपायुक्त तथा संबंधित विभाग से की गई। मीडिया के हाथ लगी तस्वीर और जानकारी के बाद की गई छानबीन में पाया गया कि नगर परिषद से किसी ने भी पेड़ काटने की अनुमति नहीं ली है। लेकिन, मामला पेड़ काटने से संबंधित होने के कारण नगर परिषद ने अपने बूते पर कार्रवाई करने का भरोसा दिया और अपार्टमेंट मालिक से बात की गई, जिसने उन्हें बताया कि चीड़ के बडे़-बडे़ पेड़ विद्युत विभाग द्वारा ट्रांसफार्मर लगाने के लिए काटे गए हैं।

जब मीडिया ने विद्युत विभाग से बात की तो अधीक्षण अभियंता धीरज मित्तल ने कहा कि देहुंघाट में ऐसा कोई ट्रांसफार्मर नहीं लगाया जाना है, जिसके लिए पेड़ काटे गए हैं। इससे साफ होता है कि ये पेड़ अवैध रूप से काटे गए हैं। इसके लिए संबंधित विभाग द्वारा जांच करने पर ही मामला साफ हो सकेगा कि किसकी जमीन से पेड़ काटे गए हैं। पेड़ काटे जाने के शिकायतकर्ता प्रेम सिंह टंगणीया ने कहा कि उन्हें पेड़ कटने के बारे जानकारी मिली जिस पर उन्होंने उसकी फोटो लेने के साथ ही पाया कि ये पेड़ अवैध रूप से काटे गए, जिसकी शिकायत उन्होंने उपायुक्त सहित नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी तथा वन मंडल अधिकारी से भी की है। उनका कहना है कि ये स्लाइडिंग जोन है तथा पहले भी इसी स्थान पर निर्माणाधीन इमारत गिर गई थी। इसलिए पेड़ काटने से पूर्व इसकी अनुमति ली जानी चाहिए, ताकि पर्यावरण को होने वाले नुकसान से बचा जा सके। नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी बीआर नेगी ने कहा कि उन्हें मिली शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है और जिस किसी ने भी अवैध रूप से पेड़ काटे हैं उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता धीरज मित्तल ने कहा कि उनके पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि देहुंघाट में कोई ट्रांसफार्मर लगाया जाना है, जिसके लिए पेड़ काटे गए हैं। उन्होंने पेड़ काटने की बात से साफ इंकार किया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है