Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,095,852
मामले (भारत)
114,171,879
मामले (दुनिया)

शानन में जुगाड़ खतरे से नहीं खालीः सड़ गल चुके हैं ट्रॉली लाइन के स्लिपर

शानन में जुगाड़ खतरे से नहीं खालीः सड़ गल चुके हैं ट्रॉली लाइन के स्लिपर

- Advertisement -

जोगिंद्रनगर। लाखों रुपए रोजाना की आमदन देने वाले शानन पावर हाउस में जुगाड़ का सहारा कभी भी कोई बड़े हादसे का कारण बन सकता है। आलम यह है कि ट्रॉली लाइन के लकड़ी के अधिकतर स्लिपर बद से बदतर हो गए हैं। कई तो सड़ गल चुके हैं। इन्हें बदला नहीं गया है। हालांकि ट्रॉली लाइन के रस्से को बदला जा रहा है। बता दें कि ट्रॉली लाइन के नीचे लगाए गए अधिकांश स्लिपरों की हालत खराब हो चुकी है। इन स्लिपरों पर नट बोल्ट आदि टिकाना भी खतरे से खाली नहीं है। इन स्लिपरों को बदले जाने की जरूरत है, ताकि किसी अनहोनी से बचा जा सके।Trolley Line

रस्सा बदलते बड़ा हादसा टला

शानन प्रोजेक्ट के रेजिडेंट इंजीनियर जीडी शर्मा ने कहा कि हालांकि फिलहाल सभी स्लिपर नहीं बदले जाएंगे, लेकिन जितने भी 50-60 स्लिपरों की उन्हें आवश्यकता है वह भी हिमाचल वन निगम की ओर से उपलब्ध नहीं करवाए जा रहे, जिससे उनका यह महत्वपूर्ण कार्य लंबित हो रहा है। खराब स्लिपरों की वजह से उन्होंने कुछ फीसदी खतरे की आशंका से इंकार नहीं किया। वहीं, ट्रॉली लाइन के लकड़ी के स्लिपर व रस्सा आदि बदले जाते वक्त भी अनहोनी टल गई। रस्सा दो पुलियों को छोड़कर बाहर हो गया और अगर कहीं ज्यादा पुलियां छोड़ जाता तो हादसा बड़ा रूप ले सकता था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है