Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

Trump का वार – Chinese Lab से ही आया Coronavirus, मुझे अभी कुछ और बताने की इजाजत नहीं

Trump का वार – Chinese Lab से ही आया Coronavirus, मुझे अभी कुछ और बताने की इजाजत नहीं

- Advertisement -

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने एक बार फिर दोहराया है कि दुनिया भर में दहशत का कारण बना कोरोना वायरस (Coronavirus) चीन की लैब (Chinese lab) में ही बनाया गया था। उन्हें इस बात का पूरा भरोसा है और इसके सबूत हैं कि कोरोना वायरस को वुहान की जैविक प्रयोगशाला में डिवेलप किया गया था। ट्रंप ने ये बात व्हाइट हाउस के एक कार्यक्रम में कही। इस दौरान उनसे पूछा गया कि क्या उनके पास कोई ऐसा सबूत है जो यह साबित कर सके कि कोरोना वुहान की लैब में बनाया गया था, ट्रंप ने कहा कि हां मेरे पास इसके सबूत हैं। लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी कह दिया कि मैं इसके बारे में आपको बता नहीं सकता और मुझे इसकी इजाजत भी नहीं है। अमेरिका इससे पहले भी चीन पर गंभीर आरोप लगा चुका है। ट्रंप ने कहा कि हम खुद इसका पता लगाने में जुटे हैं और आप सभी लोगों को भी जल्द ही इस बात की सच्चाई का पता लग जाएगी।

चीन उन्हें दोबारा निर्वाचित होते नहीं देखना चाहता

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ये भी कहा कि चीन उन्हें इस साल के अंत में होने वाले चुनावों में निर्वाचित नहीं देखना चाहता है। इसका मुख्य कारण उन्होंने अरबों डॉलर का आयात शुल्क के रूप में चीन से लिया जाना बताया। ट्रंप ने दावा किया कि चीन चाहता है कि नवंबर में होने वाले चुनावों में अगले अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में पूर्व उप राष्ट्रपति जो बिडेन चुने जाएं। रिपब्लिकन पार्टी की ओर से डोनाल्ड ट्रंप का फिर से उम्मीदवार बनना तय हैए तो वहीं डेमोक्रेट्स की ओर से जो बिडेन का रास्ता साफ माना जा रहा है।


डब्ल्यूएचओ चीन के लिए जनसंपर्क एजेंसी की तरह कर रहा काम

वहीं, ट्रंप ने आरोप लगाया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) चीन का हिमायती है। ट्रंप ने कहा है कि डब्ल्यूएचओ को शर्म आनी चाहिए, वह चीन के लिए जनसंपर्क एजेंसी की तरह काम कर रहा है। ट्रंप के इस बयान के बाद अमरिका में डब्ल्यूएचओ को लेकर सियासत और तेज हो गई है। डब्ल्यूएचओ की फंडिंग को रोकने के बाद अमेरिका में विपक्ष राष्‍ट्रपति ट्रंप के फैसले का विरोध कर रहा है। इसे लेकर अमेरिका में सियासत तेज हो हो गई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है