Expand

ट्रंप के प्लान से देश पर बढ़ेगा कर्ज- हिलेरी

ट्रंप के प्लान से देश पर बढ़ेगा कर्ज- हिलेरी

- Advertisement -

अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन और उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप के बीच पहला प्रेजिडेंशियल डिबेट खत्म हो गया है। डेढ़ घंटे तक चली इस बहस में दोनों नेताओं ने एक दूसरे को खूब घेरने की कोशिश की। इस दौरान हिलेरी ने कहा कि जो शख्स महज एक ट्वीट से भड़क जाता है, उसके हाथ में न्यूक्लियर बटन नहीं होना चाहिए। बहस के बाद हिलेरी ने ट्वीट कर कहा कि ये कोई रियालिटी शो नहीं है। amrica1न्यूयॉर्क में हेम्पस्टीड स्थित होफस्ट्रा यूनिवर्सिटी में चली ये बहस भारतीय समय के अनुसार मंगलवार सुबह 6.30 बजे शुरू हुई और 90 मिनट तक चली। बहस में हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि हमें मध्यम वर्ग पर ध्यान देना है। हमारी स्थिति 2008 से बेहतर है। व्यापार केवल हमारी चुनौती नहीं है। हमें पूरे विश्व के साथ व्यापार करना है। ट्रंप के प्लान से देश पर और कर्जा बढ़ेगा।

मैं दिलाऊंगा नौकरीः ट्रंप
वहीं, डोनाल्ड ट्रंप ने नौकरी में आई कमी के लिए कॉर्पोरेट टैक्स को जिम्मेदार ठहराया। ट्रंप ने कहा कि हमारे यहां नौकरियां कम हो रही हैं और हमसे नौकरी छीने जा रहे हैं। करों में कटौती जरूरी को लेकर ट्रंप ने कहा कि कर को कम करने से कई नई कंपनियां खुलेंगी और कई कंपनियां वापस लौटेंगी जिससे नौकरी के अवसर पैदा होंगे। हिलेरी ने कहा कि वे प्राइवेट सर्वर को विदेश विभाग के ईमेल भेजने में इस्तेमाल करने को लेकर जानती हैं। उन्होंने ये भी कहा कि मैंने प्राइवेट सर्वर का इस्तेमाल करके गलती की। इस बात के जवाब में ट्रम्प ने कहा कि वे अपने टैक्स रिटर्न का खुलासा करने को तैयार है अगर हिलेरी डिलीट किए गए 33 हजार ईमेल के डिटेल दें।

कानून-व्यवस्था
हिलेरी ने कहा कि पुलिस और अमेरिका मे रह रहीं तमाम कम्युनिटीज के लोगों के बीच एक विश्वास बनाना होगा। गन कानून में भी सुधार करने होंगे। गन वॉयलेंस के चलते ही कई अफ्रीकी-अमेरिकी मारे जाते हैं। उधर के इस बात के जवाब में ट्रंप ने कहा कि अगर आप शिकागो की सड़क पर घूम रहे हैं तो आपको गोली भी मारी जा सकती है। क्राइम करने के लिए पुलिस को अधिकार देने होंगे। अभी पुलिस कुछ करने में डरती है। व्हाइट हाउस के लिए दौड़ तेज होने के साथ ही हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार प्रसारित हए इस बहस को लेकर अमेरिका में काफी उत्साह देखा गया। आपको बता दें कि अमेरिका के 56 फीसदी लोग हिलेरी को नापसंद करते हैं। जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 63 फीसदी लोग नापसंद करते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है