Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

दहशत में हिमाचल: लाहुल में आई बाढ़ में अब तक सात शव बरामद; रेस्क्यू आपरेशन जारी

जिस्पा -लेह मार्ग भी कई जगह से क्षतिग्रस्त

दहशत में हिमाचल:  लाहुल में आई बाढ़ में अब तक सात शव बरामद; रेस्क्यू आपरेशन जारी

- Advertisement -

केलांग। हिमाचल में बीते रोज से हो रही झमाझम बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। बीती शाम को लाहुल (Lahaul) में बादल फटने से आई बाढ़ ने कहर ढा दिया है। बाढ़ आने से दस से ज्यादा लोगों के लापता होने की आशंका है। अब तक सात शव बरामद हो चुके हैं। जबकि अन्य की तलाश जारी है। आइटीबीपी, एनडीआरएफ सहित पुलिस और जिला प्रशासन बचाव कार्य में लगे हुए हैं। मलबे में शवों की तलाश करने में जवानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मृतकों की पहचान  शेर सिंह (62), रूम सिंह (41), मेहर चंद (50), नीरथ राम (42) के तौर पर हुई है। ये सभी मंडी जिले के धमसोई गांव के रहने वाले हैं। तेज राम (75), देसराज (42) निवासी धमसोई और ऐतम राम (60) निवासी पनारसा, मंडी को रेस्क्यू किया गया है।

 

 

बता दें कि लाहुल घाटी में जाहलमा की पहाड़ियों में बादल फटने के तोजिंन नाले में बाढ़ आ गई। बादल फटने से क्षेत्र के विभिन्न नदी.नालों में अचानक बाढ़ आ गईए जिसमें कई लोग लापता हो गए हैं। लापता लोगों की तलाश में एनडीआरएफ की टीम भी जुटी हुई है। डीसी लाहुल नीरज कुमार ने बताया कि तांदी उदयपुर मार्ग पर तोजिंन नाले में आई बाढ़ के मलबे में से 7 शव निकाले गए हैं और तीन से चार लापता लोगों की तलाश की जा रही है। आईटीबीपी व प्रशासन की टीम ने मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। लाहुल घाटी में आज सुबह से ही भारी बारिश हो रही है। ऐसे में रेस्क्यू टीम को भी काफी दिक्कतें उठानी पड़ रही है।

ये भी पढ़ेः हिमाचल में फटे बादल, कुल्लू में मां-बेटा बहे, लाहुल में दो शव मिले, कई लापता

 

 

डीसी ने कहा कि मंगलवार देर रात भारी बारिश के कारण दो गाड़ियां फंस गई थी, एक गाड़ी पांगी और दूसरी जालमा की तरफ जा रही थी। पानी के तेज बहाव के चलते गाड़ियां बह गई।यहीं पर बीआरओ की जेसीबी इन्हें निकालने की कोशिश कर रही थी। इस दौरान एक व्यक्ति को मलबे से निकाला गया जिसे कुल्लू अस्पताल रेफर कर दिया गया। इसके साथ केलांग से जिस्पा लेह मार्ग भी कई जगह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। हांलाकि वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल लेह आने जाने वालों के लिए किया गया है। मगर इस मार्ग से केवल छोटी गाड़ियां ही निकल सकती है। लेह और मनाली टैक्सी यूनियन से आग्रह है कि मनाली लेह पर वेबजह सफर करने से परहेज करें। बीआरओ सड़कों को खोलने में लगी है। जिला प्रशासन ने हर संभव सहायता प्रदान कर रही है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है