Expand

हादसा निगल गया बेसहारा मां के दोनों जवान बेटे

हादसा निगल गया बेसहारा मां के दोनों जवान बेटे

- Advertisement -

मंडी। दो नौजवान बेटे जो अपनी विधवा मां के बुढ़ापे का सहारा बनने के लिए घर से निकले थे, एक अनहोनी ने उनकी मां को हमेशा के लिए बेसहारा बना दिया। कैसा होगा वह मंजर जब दो जवान बेटों की लाश आंगन में होगी यह सोचकर ही रौंगटे खड़े हो जाना स्वाभाविक है। लेकिन जिला कुल्लू की तहसील आनी के गांव फनौटी में कुछ ऐसा ही मंजर होगा जहां एक बेबस मां के सामने दो जवान बेटों की लाशें पड़ी होंगी। जिन बेटों को उसने कामयाब होने की दुआएं देकर टेस्ट देने भेजा था वह काल का ग्रास बन जाएं तो उस मां के दिल पर क्या बीतेगी इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है।

  • डोली उठने से पहले उठ गया मां-बाप का साया
  • पिता-पुत्र की एक साथ जलेगी चिता
  • कई खौफनाक मंजर छोड़ गया मंडी हादसा

accdidentमंडी के साथ लगते बिंद्रावणी में शनिवार दोपहर को हुआ बस हादसा अपने पीछे कई खौफनाक मंजर छोड़ गया है। यह हादसा कुछ परिवारों को ऐसे जख्म दे गया है जिन्हें सारी उम्र नहीं भुला पाएंगे। इस हादसे में कुल 18 लोग मारे गए और इनमें राकेश कटोच और भुवनेश्वर कटोच दो सगे भाई भी शामिल हैं जिन्हें यह हादसा निगल गया। दोनों भाई अपने गांव से एक टेस्ट देने के लिए कुल्लू आए थे, लेकिन वह मंडी पहुंच गए। यहां से जब वह वापस घर लौट रहे थे तो हादसे का शिकार हो गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों भाइयों के पिता का देहांत काफी वर्ष पहले हो गया था। उनकी मां ने उन्हें कई परेशानियां उठाकर पाला था।डी शहर की प्रेम गली में एक बेटी की डोली उठने से पहले ही उसके सिर से मां और बाप दोनों का ही साया उठ गया। प्रेम गली के मकान नंबर 133/8 निवासी सुभाष मल्होत्रा और उनकी पत्नी हेम लता तो अपनी बेटी की शादी का निमंत्रण देने जा रहे थे, लेकिन उन्हें क्या पता था कि वह कभी उस बेटी की डोली उठती हुई देख ही नहीं पाएंगे।
accdident2प्राप्त जानकारी के अनुसार सुभाष मल्होत्रा की दो बेटियां हैं जिनमें से बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है और छोटी बेटी की शादी 25 नवंबर को तय है। दोनों बेटी की शादी का निमंत्रण अपने रिश्तेदारों को देने जा रहे थे लेकिन बस हादसे ने खुशियों को गम में बदल दिया। जिला मंडी के देघर गांव के एक दंपत्ति भी इस बस हादसे में काल का ग्रास बने हैं। 30 वर्षीय चूड़ामणि और 25 वर्षीय लता देवी दोनों ही इस हादसे में मारे गए।

मंडी में हुए इस बस हादसे में जिला कांगड़ा की तहसील बड़ोह के कंडी गांव में भी एक पिता और पुत्र की चिताएं एक साथ जलेंगी। कंडी गांव के कर्म चंद अपने बेटे रिंकू शर्मा, रिंकू की पत्नी रीना देवी और अपने दूसरे बेटे कमल शर्मा के साथ इस बस में सवार थे। इस हादसे में जहां कर्म चंद और रिंकू को काल निगल गया तो वहीं कमल और रीना घायल हो गए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है