Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

सोलन में गौशाला में पानी घुसने से दो गायों की मौत, सिरमौर में एनएच बंद-जेसीबी फंसी

सोलन में गौशाला में पानी घुसने से दो गायों की मौत, सिरमौर में एनएच बंद-जेसीबी फंसी

- Advertisement -

सोलन/नाहन। अभी मानसून ने हिमाचल में दस्तक ही दी है और बरसात का आगाज ही हुआ है। अभी से ही तबाही की खबरें आने शुरू हो गई हैं। सोलन व सिरमौर (Solan / Sirmaur) में बरसात की पहली बारिश (Heavy rain) ने ही कहर बरपाया है। सोलन में नाले का पानी गौशाला (Cowshed) में घुसने से अंदर बंधी दो गायों (Cow) की मौत (Death) हो गई है, वहीं काफी देर तक एक बुजुर्ग महिला घर में अटकी रही।

यह भी पढ़ें: चंबाः पहली बारिश में रौद्र हुई कालीघार, लुढ़की कार-जाम हुआ ट्रैफिक

 

इसके अलावा सिरमौर में चंडीगढ़-कालाअंब-पांवटा साहिब-देहरादून एनएच-07 पर बोहलियों के समीप भारी बारिश (Heavy Rain) के बीच खड्ड में अचानक भारी मात्रा में पानी आने से हाईवे बंद हो गया। जोरदार बारिश के बीच सुबह करीब साढ़े 8 बजे हाईवे अवरूद्ध हुआ। इस दौरान पुल के निर्माण कार्य में लगी एक जेसीबी (JCB) भारी पानी के बीच में ही फंस गई।

 


बता दें कि सोलन जिला के चंबाघाट में अवैध डंपिंग के चलते नाला अवरूद्ध होने से एक गौशाला में पानी घुस आया, जिसके चलते दो गायों की मौत हो गई। चंबाघाट (Chambaghat) की किरण व रवीना ने बताया कि उनके घर के समीप फोरलेन वालों ने डंपिग (Dumping) की थी, जिसके चलते नाला भर गया व पानी के साथ मिट्टी का बहाव उनकी गौशाला में आ गया। इससे उनकी दूध देने वाली गायों की मौत हो गई। इसके अलावा एक बुजुर्ग औरत भी अपने घर में ही कुछ देर तक फंसी रही। उन्होंने इसका जिम्मेदार फोरलेन (Forelane) का कार्य कर रही कंपनी व जिला प्रशासन को ठहराया है।

बसाल पंचायत के प्रधान देवेंद्र कश्यप ने भी इसे फोरलेन कंपनी व प्रशासन की लापरवाही करार दिया है। उन्होंने समय रहते इस तरह के हादसों को रोकने के लिए त्वरित कदम उठाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: राजगढ़ में पिकअप से देवदार की लकड़ी बरामद, पांवटा में कटा मिला शीशम का पेड़

 

लेकिन, ऐसा होना संभव नहीं लग रहा। क्योंकि यह प्रशासन है कि सोया हुआ है व सरकार रामराज्य का गुणगान कर रही है। बता दें कि बीते वर्ष सोलन जिला के सुल्तानपुर स्थित आंजी गांव, धर्मपुर सहित जिला के अनेकों स्थानों पर लोगों ने अपने लाखों के आशियाने खो दिए थे।

मानसून की पहली बारिश ने ही सड़कों की पोल खोली

नाहन। चंडीगढ़-कालाअंब-पांवटा साहिब-देहरादून एनएच-7 पर बोहलियों के समीप भारी बारिश (Heavy Rain) के बीच खड्ड में अचानक भारी मात्रा में पानी आने से हाईवे बंद हो गया। पुल के निर्माण कार्य में लगी एक जेसीबी भारी पानी के बीच में ही फंस गई। जाम लगने के कारण दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई।

नाहन की ओर से रुखड़ी तक व पांवटा साहिब (Paonta Sahib) की ओर से कटासन मंदिर तक वाहनों की कतार लग गई। इस दौरान एक फायर ब्रिगेड की गाड़ी (fire brigade vehicle) भी जाम में फंस गई। साढ़े 10 बजे के करीब मार्ग बड़े वाहनों के लिए खुल गया। मगर दोपहिया वाहन व कारें पानी उतरने का इंतजार करती रही। फिलहाल जलस्तर करने होने से फिलहाल
हाईवे (High way) बहाल हो गया है।

 

मगर बरसात का मौसम बना हुआ है। इससे यह अंदेशा है कि अगर खड्ड में दोबारा ज्यादा पानी आया तो मार्ग दोबारा भी बंद हो सकता है। निर्माणधीन पुल के ठेकेदार (Contractor) ने बारिश के अंदेशे के बावजूद वैकल्पिक मार्ग बनाने की जहमत नहीं उठाई। निर्माणाधीन स्थल पर कोई भी ऐसा विकल्प नहीं है, जहां खड्ड में पानी आने की सूरत में वाहनों के लिए आवाजाही हो सके। बहरहाल, मानसून की पहली बारिश ने ही सड़कों की पोल खोल दी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है