Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

महिला प्रधान मामलाः अधिकारी के बचाव में आए दो दर्जन से अधिक पंचायतों के प्रतिनिधि

महिला प्रधान मामलाः अधिकारी के बचाव में आए दो दर्जन से अधिक पंचायतों के प्रतिनिधि

- Advertisement -

मंडी। जिला के सरकाघाट उपमंडल के जिस अधिकारी पर महिला पंचायत प्रधान (Female panchayat Pradhan) ने अश्लील हरकतें (obscene acts) करने के आरोप लगाए थे, आज उसी अधिकारी के पक्ष में इलाके के दो दर्जन से अधिक पंचायत प्रधान उतर आए हैं। इन पंचायत प्रधानों ने आज डीसी और एसपी मंडी से मिलकर अधिकारी के पक्ष में अपनी बात रखी और अधिकारी को स्वच्छ छवि वाला बताया। बता दें कि पिछले कल सरकाघाट उपमंडल की एक महिला पंचायत प्रधान ने डीसी और एसपी (DC & SP) से मिलकर उक्त अधिकारी पर अश्लील हरकतें करने के आरोप लगाए थे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में बनेगी ई-वाहन नीति, पहली इलेक्ट्रिक कार में सफर करेंगे जयराम


महिला प्रधान का कहना है कि अधिकारी उसे अपने क्वार्टर में अकेले आने को कहता है और उसके कोई काम नहीं किए जा रहे हैं। लेकिन सरकाघाट उपमंडल के ही दो दर्जन से अधिक पंचायत प्रतिनिधियों ने इन आरोपों को नकार दिया है। दो दर्जन से भी अधिक पंचायतों के प्रधानों, बीडीसी अध्यक्ष व सदस्यों ने मंडी पहुंच कर डीसी और एसपी को लिखित तौर पर बयान दिया कि अधिकारी पर लगाए गए आरोप सही नहीं हैं।

पंचायत समिति गोपालपुर की अध्यक्ष निशा देवी, पौंटा की प्रधान शंकुतला देवी, बकारटा के दीप चंद, पिंगला की अनीता देवी, खुडला की राजकुमारी, धनालग की भगवति देवी, रत्तन चंद वर्मा भांवला के उपप्रधान, बलद्वाड़ा के सूरत राम, अश्वनी कुमार समैला, अमर सिंह नवाणी, बबली देवी नशेला, मीरा देवी गोपालपुर, रमा देवी खलारड़ू , किरण बाला मसेरन, संतोषी देवी रखोटा, मलका देवी नवाही, प्रोमिला बीडीसी मसेरन, सरला देवी बीडीसी धनालग तथा लता देवी प्रधान बाग आदि ने कहा कि गोपालपुर विकास खंड में अधिकांश पंचायत प्रधान महिलाएं हैं और वह इस बात की पुष्टि करती हैं, उक्त अधिकारी पर लगाए जा रहे आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है।

इनका कहना है कि वह भी लगातार अधिकारी के पास जाती हैं। कभी भी कोई अनुचित व्यवहार उनके साथ नहीं हुआ। वह विकास कार्यों को गति दे रहे हैं। यदि इस तरह के तथ्यहीन आरोप लगाए जाने लगे तो अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए काम करना मुश्किल हो जाएगा। डीसी व एसपी से आग्रह किया गया कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए, ताकि सही स्थिति सामने आ सके।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है