Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

वो बेगुनाह मुर्गे हैं, फिर भी उन्हें जेल में डाल रखा है-रिहाई की शर्त जानेंगे तो रोना आएगा

तेलंगाना के नेल्लोर जिले का है मामला,बतौर सबूत जेल की सलाखों के पीछे हैं

वो बेगुनाह मुर्गे हैं, फिर भी उन्हें जेल में डाल रखा है-रिहाई की शर्त जानेंगे तो रोना आएगा

- Advertisement -

वो बेगुनाह मुर्गे (Two Innocent Chickens)हैं, फिर भी उन्हें जेल में डाल रखा है। तेलंगाना (Telangana) के नेल्लोर जिले का है मामला,बतौर सबूत जेल की सलाखों के पीछे हैं दो मुर्गें। रिहाई की शर्त जानेंगे तो आपको भी रोना आ जाएगा। ये दोनों मुर्गे पिछले 27 दिनों से जेल में बंद हैं। पुलिस कह रही है कि इन्हें बतौर सबूत (Evidence)जेल में बंद कर रखा है।

यह भी पढ़ें:  तेज रफ्तार में आई और हवा में उड़ गई कार, Video देखकर खुली रह जाएंगी आंखें

मकर संक्राति (Makar Sankranti) के मौके पर तेलंगाना में कुछ लोगों में मुर्गों की फाइट पर सट्टेबाजी हुई थी। पुलिस (Police) ने मौके से कुछ सट्टेबाजों को गिरफ्तार कर लिया, उनके पास ये दो मुर्गे भी थे, इसलिए दोनों को साथ जेल लाया गया। इसके बाद सट्टेबाज तो रिहा होकर जेल से निकल गए,लेकिन मुर्गों की जमानत भला कौन देता,इसलिए ये बेचारे जेल में बंद हैं। पुलिस का कहना है कि मुर्गे गुनहगार नहीं हैं,लेकिन सबूत के तौर पर काम आ सकते हैं। इसलिए मामले की सुनवाई पूरी होने तक इन्हें जेल में रखा जाएगा। यानी अब कोर्ट (Court) में केस चलेगा, तब तक इन्हें जेल में ही रहना पड़ेगा। सुनवाई के दौरान इन्हें सबूत के तौर पर कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मामला यहीं पर खत्म नहीं होता है,इसके बाद भी इनकी रिहाई हो जाएगी,लेकिन इनकी जमानत (Bail)नहीं होगी। चूंकि इनका कोई मालिक नहीं है, इसलिए इनकी बोली लगाई जाएगी। जो उंची बोली लगाएगा,ये मुर्गे उसके हो जाएंगे। यानी (Two Innocents)दो बेगुनाह कैसे जेल (Jail)में डाले गए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है