Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

मुर्दों का बीमा करवाकर करोड़पति बन गए ये दो शख्स, जानिए कैसे

मुर्दों का बीमा करवाकर करोड़पति बन गए ये दो शख्स, जानिए कैसे

- Advertisement -

नई दिल्ली। अभी तक आपने जिंदा इंसानों का बीमा करवाने की बात ही सुनी होगी। लेकिन पुलिस ने दो ऐसे धोखेबाजों को धर दबोचा है, जिन्होंने मुर्दों का बीमा करवाकर करोड़ों रुपए कमाए। दोनों ने बीमा कंपनी के एजेंटों से मिलकर करोड़ों का चूना लगाया।

दोनों ठगों के नाम हैं शाकिब और शकील। मुर्दों का बीमा करवाकर दोनों ने एक होटल और एक शो रूम खोल लिया है। पुलिस के अनुसार, ये दोनों पिछले तीन साल से मुर्दों का बीमा करवा रहे थे। यूपी के बरेली में हुए इस खुलासे से बीमा कंपनियों में हड़कंप मच गया है। मामला तब पकड़ में आया, जब रिलायंस निप्पोन लाईफ इंश्योरेंस कंपनी के एक्जीक्यूटिव टेरीटरी मैनेजर अमित सक्सेना ने 23 जुलाई 2018 को कोतवाली में मृतक शोएब की मां शहनाज के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था।


मौत पहले, बीमा बाद में

अमित ने पुलिस को बताया कि ठिरिया निजावत खां में जाटवपुरा के शोएब ने 9.90 लाख रुपये का बीमा कराया था। आठ मार्च 2016 को उसकी बीमा पालिसी दर्ज की गई। भमोरा के रहने वाले कंपनी के एडवाइजर शेर बहादुर ने उसकी बीमा की कार्रवाई पूरी की। 50 दिन के अंदर शोएब को मृतक घोषित करते हुये उसकी मां शहनाज ने बीमा के लिये दावा ठोंक दिया। सेल्स मैनेजर जितेंद्र कुमार तिवारी के सामने शहनाज ने 12 मई 2017 को दावा कर बीमे के दस लाख रुपये देने की मांग की। कंपनी के अधिकारियों को पता लगा कि गैस एजेंसी कर्मचारी शोएब की मौत पहले हो गई थी।

दो करोड़ का घोटाला

जांच में पता लगा कि शोएब की मौत के बाद शहनाज ने शाकिब की मदद से बीमा कराया था। बीमा की किस्तें शाकिब ने ही भरी हैं। शाकिब ने रिलायंस से लेकर एलआईसी तक में फर्जीवाड़ा किया। एलआईसी में भी शोएब के नाम से 9.90 लाख रुपये का बीमा कराया गया था। शाकिब फ़र्ज़ी मृत्यु प्रमाण पात्र बनवाकर बीमा कंपनियों के एजेंट की मिलीभगत से मुर्दे का बीमा करवा देता था और पहली 50 हजार रुपए की पहली किस्त खुद देता था। पुलिस पूछताछ में शाकिब ने बताया की उसने करीब एक दर्जन बीमा कंपनियों को करीब 2 करोड़ से अधिक का चूना लगाया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है