Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,627,763
मामले (भारत)
177,191,169
मामले (दुनिया)
×

परिवार से रहे Corona दूर इसलिए घर के बाहर टेंट में रह रहे ये दो लोग

परिवार से रहे Corona दूर इसलिए घर के बाहर टेंट में रह रहे ये दो लोग

- Advertisement -

कुल्लू। पूरे प्रदेश में बाहरी राज्यों से हजारों लोग अपने अपने घरों को लौट रहे हैं। इनमें से कुछ लोग अपने आप को परिवार से अलग घर से दूर क्वारंटाइन (quarantine) कर रहे है और बाकायदा नियमों का पालन कर रहे हैं। इसी तरह कुल्लू ( Kullu) के पूईद पंचायत में 2 लोग भी समाज के प्रति अपने सरोकार व कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे है। ये दोनों घरके बाहर अस्थाई टैंटों मे रहकर 14 दिन का क्वारंटाइन पीरियड( Quarantine period) पूरा कर रहे है। पांगी निवासी केसर सिंह कुल्लू जिला की खराहल घाटी में किराये पर रहते है और शिमला किसी जरूरी कार्य में गए थे। वहां से लौटने के बाद वे घर से बाहर टैंट लगाकर रह रहे है। टैंट में ही उन्होंने खाने पीने का प्रबंध किया है। वहीं चंडीगढ़ से नरेन्द्र कुमार भी 3 दिन पहले अपने घर लौटे है। वे भी घर के बाहर अस्थाई टैंट में रहकर क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर रहे है।


पांगी निवासी केसर सिंह ने बताया कि सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार वह 14 दिन होम क्वारंटाइन में रह रहे हैं। बाहरी राज्यों से जो भी लोग आ रहे है वो सभी नियमों का पालन करें।उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को समाज के प्रति अपने कर्तव्या का निर्वहन करें और अपने परिवार के लोगों से दूर रह कर उनका जीवन सुरक्षित करें। हर व्यक्ति को सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का प्रयोग करना चाहिए।उधर नरेन्द्र सिंह ने बताया कि वे परिवार के लोगों से दूरी बनाए ररह रहे हैं। लोग होम क्वारंटाइन पीरियड का पालन करें। डाक्टर,नर्स,पुलिस कर्मी और सफाई कर्मचारियों का साथ देना चाहिए

डीसी ऋचा वर्मा ने बतायाकि जो भी लोग होम या संस्थागत क्वारंटाइन पीरियड में रहे हैं । उनको कोरोना योद्वा का नाम दिया गया है। जो व्यक्ति सोसायटी के लिए अपनी ड्यूटी दे रहे है और समाज के प्रति अपना कर्तव्या निभा रहा है। साथ ही क्वारंटाइन पीरियड का पालन ठीक तरह से कर रहे हैं ,उनको सम्मानित किया जाएगा। पूईद पंचायत की प्रधान निर्मला देवी ने बतायाकि उनकी पंचायत में बाहरी राज्यों से डेढ दर्जन से अधिक लोग आए है उनमें से 2 व्यक्ति घर के बाहर अस्थाई टेंट में रहे है और अपने आप को अपने परिवार से दूर रखा है। पंचायत की तरफ से उनके लिए सरकारी स्कूल में प्रबंध किया गया था लेकिन इन दोनों व्यक्तियों ने घर के बाहर अलग रहकर समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है